Daily Archive: January 5, 2018

“Ambedkarite” PM Must Speak On Violence Against Dalits, Says Jignesh Mevani

New Delhi : Prime Minister Narendra Modi must speak up on whether Dalits in this country have the right to hold peaceful rallies and protest, said Gujarat Dalit leader Jignesh Mevani today, strongly refuting the allegation that he made a provocative speech which triggered caste clashes in Maharashtra this week.

The 36-year-old alleged that the ruling BJP and its ideological mentor the Rashtriya Swayamsevak Sangh is "threatened by my growing popularity," accusing them of "attacking me because they arrogantly thought they would win 150 seats in Gujarat and stopped at 99…and now are worried about the 2019 national election."

"If Dalits continue to be targeted and my reputation is continued to be tarnished, Mr PM we will teach you a lesson in 2019," Jignesh Mevani said in multiple attacks on PM Modi, also stating, "The Prime Minister is a self-proclaimed Ambedkarite, a follower of Dr BR Ambedkar, why is he silent? Why are Dalits being attacked like in Pune? Why are Dalits not secure in India? We want to know if he has any commitment to the annihilation of caste…which was Dr Ambedkar’s ultimate goal."

दलित-मराठा अस्मिता में फंसे महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस

मुंबई| लगभग तीन साल पहले महाराष्ट्र की कमान संभालने वाले देवेंद्र फड़नवीस इस समय सबसे बड़े सियासी संकट का सामना कर रहे हैं. भीमा-कोरेगांव की हिंसा और उसके बाद महाराष्ट्र बंद को लेकर विरोधक फड़नवीस पर निशाना साध रहे हैं. वैसे सियासी जानकारों के अनुसार आने वाले समय में फड़नवीस का सिरदर्द और बढ़ सकता है क्योंकि मराठा समाज ने भी अपनी मांगो को लेकर अगले महीने आन्दोलन करने की चेतावनी दी हैं. मराठा समाज ने पिछले दिनों भी काफी आंदोलन किए है जिसमे उन्हें लोगों का साथ मिला है. यह आंदोलन पहले भी फड़नवीस के लिए चिंता का सबब बन चूका है.

आरक्षण के साथ मराठा समाज की एक मांग यह भी है कि अत्याचार अधिनियम में ढील दी जानी चाहिए. इसकी वजह से दलित संगठनों में नाराजगी है. वहीं, कांग्रेस और एनसीपी मौके को भुनाने की पूरी कोशिश कर सकती हैं. दोनों ही पार्टियां मराठा और दलित समाज को अपने करीब करने की कोशिश कर सकती हैं. ऐसा करना आसान भी है क्योंकि मुख्यमंत्री ब्राह्मण समुदाय से आते हैं और कांग्रेस-एनसीपी के तमाम बड़े नेता मराठा समाज से आते हैं.

वहीं, दलित समाज द्वारा किए गए शक्तिप्रदर्शन से भी बीजेपी चिंतित है. महाराष्ट्र में दलित संगठनों द्वारा किए गए बंद का प्रभाव पुणे, सातारा, कोल्हापूर, जलगाव, औरंगाबाद और मुंबई में देखने को मिला. देश की आर्थिक राजधानी मुंबई को करीब 10 घंटे तक ‘बंधक’ बना लिया गया. इस आंदोलन से देश के संविधान निर्माता डॉ. भीम राव आंबेडकर के पौत्र प्रकाश आंबेडकर का कद बढ़ा हैं. महाराष्ट्र में बीजेपी को आरपीआई (अठावले गट) का समर्थन हासिल है ऐसे में प्रकाश आंबेडकर को लोगों का समर्थन मिलना बीजेपी के लिए चिंता का विषय है.

पुणे हिंसा: जानिए कौन हैं 85 साल के संभाजी भिड़े जिन्हें 4-5 लाख युवा करते हैं फॉलो

इस बीच, प्रकाश आंबेडकर द्वारा संभाजी भिड़े और मिलिंद एकबोटे को अरेस्ट करने की मांग से मुख्यमंत्री की मुश्किल बढ़ गई है. सूत्रों की माने तो संभाजी भिड़े और मिलिंद एकबोटे दोनों ही संघ के करीबी हैं ऐसे में दोनों पर केस तो दर्ज हो गया मगर आगे की कार्रवाई करना फड़नवीस के लिए आसान नहीं होगा.

वहीं, सूबे का धनगर समाज भी आरक्षण की मांग कर रहा है.आने वाले दिनों में वह समाज भी मुख्यमंत्री की परेशानियों में इजाफा कर सकता है. ऐसे में सीएम की आगे की राह आसन नहीं हैं.

#FodderScam Case at Ranchi CBI Court: Judge Shivpal Singh to pronounce quantum of sentence for rest of the accused, including #LaluPrasadYadav, via video conferencing.

Case at Ranchi CBI Court: Judge Shivpal Singh to pronounce quantum of sentence for rest of the accused, including , via video conferencing.

I am being targeted by BJP, Sangh: Jignesh Mevani

New Delhi, Jan 5 Dalit leader Jignesh Mevani today denied making any inflammatory speech in Pune and said he was being targeted by the BJP and the Rashtriya Swayamsevak Sangh.

An FIR was filed against the Gujarat MLA and Jawaharlal Nehru University (JNU) student leader Umar Khalid yesterday for their alleged provocative speeches during an event in Pune on December 31.

“Neither did I make any inflamatory speech nor did I take part in the bandh in Maharashtra.

“I am being targeted by the BJP and Sangh,” Mevani told reporters at the Press Club of India here.

PTI

US Suspends At Least $900 Million In Security Aid To Pakistan

WASHINGTON : The United States said on Thursday it was suspending at least $900 million in security assistance to Pakistan until it takes action against the Afghan Taliban and the Haqqani network militant groups.

The U.S. State Department announced the decision, saying it reflected Trump administration’s frustration that Pakistan has not done more against the two groups, which have long used sanctuaries in Pakistan to launch attacks in neighboring Afghanistan that have killed U.S., Afghan and other forces.

The department declined to say exactly how much aid would be suspended, saying the numbers were still being calculated and included funding from both the State and Defense departments.