Daily Archive: January 3, 2018

यूपी में योगी सरकार खत्म कर सकती है 2300 मदरसों की मान्यता

लखनऊ. उत्तर प्रदेश मदरसा बोर्ड के वेब पोर्टल पर अपना ब्यौरा नहीं देने वाले करीब 2300 मदरसों की मान्यता खत्म होने की कगार पर है. राज्य के अल्पसंख्यक कल्याण विभाग ने ऐसे मदरसों को फर्जी माना है. प्रदेश के अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री चौधरी लक्ष्मी नारायण ने बताया ‘प्रदेश में 19 हजार 108 मदरसे राज्य मदरसा बोर्ड से मान्यता प्राप्त हैं. उनमें से 16 हजार 808 मदरसों ने पोर्टल पर अपना ब्योरा फीड किया है. वहीं करीब 2300 मदरसों ने अपना विवरण नहीं दिया है. उन्हें हम फर्जी मान रहे हैं.’

चौधरी ने बताया कि मदरसा बोर्ड की परीक्षा फार्म भरने की अंतिम तारीख 15 जनवरी है, लिहाजा इस माह के बाद इन मदरसों की मान्यता खत्म होने की सम्भावना है. मदरसा बोर्ड के रजिस्ट्रार राहुल गुप्ता ने भी बताया कि वेब पोर्टल पर जानकारी डालने की मीयाद गुजर चुकी है, लिहाजा इन 2300 मदरसों की मान्यता खत्म की जाएगी.

उन्होंने बताया कि इस बार आलिया (कक्षा आठ से ऊपर) स्तर के 3691 मदरसे पंजीकृत हुए हैं. इनके छात्र-छात्राओं को बोर्ड की परीक्षाओं में शामिल किया जाएगा. परीक्षा फार्म भरने की अंतिम तारीख 15 जनवरी है. पिछली बार 2773 मदरसों के छात्रों ने परीक्षा दी थी.

मंत्री नारायण ने कहा कि सरकार अपनी जानकारी पोर्टल पर नहीं देने वाले मदरसों के प्रति अब भी नरम रुख अपनाये हुए है. ऐसे मान्यता प्राप्त मदरसे अब भी आकर अपनी समस्या से अवगत कराते हैं तो हम समाधान के लिये तैयार हैं. पोर्टल पर पंजीकृत मदरसों के किसी भी छात्र को परीक्षा से वंचित नहीं किया जाएगा. नारायण ने कहा कि सरकार मदरसों में पारदर्शिता लाने के लिये प्रयासरत है, जबकि विपक्ष इसे लेकर इल्जाम लगाने का खेल खेल रहा है.

Dalit Groups’ Bandh In Maharashtra Called Off:

After a day of protests, road and rail traffic disruption, and sporadic violence, the massive shutdown across Maharashtra called by Dalit groups and parties, has been called off.

  1. Local trains were blocked at Ghatkopar, causing delays on the Central Harbour lines. Thirteen buses of the civic transport service ‘BEST’ were also damaged by protesters. The lines were cleared and services normalized towards evening, the Central Railways said.
  2. Protests were held in Nagpur, Pune and Baramati and arson was reported from several areas. There was a total shutdown in Baramati, a town near Pune, and Sangli and Miraj, two towns in south Maharashtra. In Nagpur, most schools and markets remained shut and bus services were disrupted as protests were held in sensitive parts of the town.

एक युवक का दावा, ऐश्‍वर्या राय मेरी मां है

अभी तक आपको पता होगा कि 44 साल की ऐश्‍वर्या राय एक बेटी की मां है लेकिन हाल ही में आंध्र प्रदेश के रहने वाले 29 साल के एक युवक का दावा है कि ऐश उनकी मां है. एक अंग्रेजी वेबसाइट की खबर के अनुसार विशाखापट्टनम के संगीत कुमार ने दावा किया कि 1988 में उसका जन्म हुआ था. ऐश्‍वर्या ने संगीत को आईवीएफ ( IVF) के जरिए पैदा किया.

संगीत कुमार का कहना है कि उसके जन्‍म के बाद दो साल तक ऐश्वर्या राय बच्चन के माता-पिता (वृंदा राय और कृष्णाराज राय) ने उसका पालन-पोषण किया.

संगीत ने कहा, मेरे नानाजी कृष्णाराज राय का अप्रैल 2017 में निधन हो गया था. मेरे अंकल का नाम आदित्य राय है. संगीत ने ये सारी जानकारी साल के अंत में मीडिया के सामने रखी. संगीत यहीं नहीं रूके उन्होंने कहा, जैसा की अमरसिंह ने दावा किया था कि अमिताभ बच्चन और जया बच्चन एक घर में रहते हुए भी अलग रहते हैं ठीक उसी तरह उनकी तथाकथित मां ऐश्‍वर्या राय भी अपने पति अभिषेक बच्चन से अलग रहती हैं.

महाराष्ट्र बंदः मुंबई में बसों पर हमला, रेलवे ट्रैक पर बैठे प्रदर्शनकारी

मुंबई/पुणे/नागपुर. महाराष्ट्र के पुणे में दो दिन पहले हुई हिंसा और उसके बाद अलग अलग इलाकों में हुये विरोध प्रदर्शनों के बाद बुधवार को बुलाये गये बंद के दौरान सरकारी परिवहन की बसों पर पथराव की छिटपुट घटनाओं को छोड़ दें तो स्थिति सामान्य है. बंद की वजह से कई स्कूलों तथा बाजारों को आज बंद रखा गया है.

राज्य में दलित नेताओं के बंद के आह्वान के बीच मुंबई में एक बार फिर बसों को निशाना बनाया गया. दलित नेता भीमा-कोरेगांव लड़ाई की 200वीं सालगिरह के दौरान भड़की हिंसा का विरोध कर रहे हैं.

बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) की आपदा प्रबंधन इकाई के एक अधिकारी ने बताया कि प्रदर्शनकारियों ने कलानगर इलाके (बांद्रा), धारावी, कामराज नगर, संतोष नगर, डिंडोशी और हनुमान नगर में ‘बेस्ट’ की 13 बसों में तोड़फोड़ की. पूर्वी उपनगरों में कल प्रदर्शनों के कारण शहर में सड़क यातायात बाधित रहा.

मुंबई में घाटकोपर स्टेशन पर सुबह दलित कार्यकर्ताओं ने उपनगरीय रेल सेवा को बाधित किया. मध्य रेलवे की छत्रपति शाहुजी महाराज टर्मिनस की तरफ जाने वाली मुख्य लाइन पर रेल सेवा प्रभावित रहीं जिससे ऑफिस जाने वाले हजारों यात्रियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा. बंद को देखते हुये रेलवे ने सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किये हैं. मुंबई में मशहूर डिब्बेवालों ने भी आज अपनी सेवाएं ना देने का फैसला किया है.