New Delhi Latest News

पेट्रोल पंपों पर अब शीघ्र ही बिकेंगे एलईडी बल्ब

पेट्रोल पंपों पर अब शीघ्र ही बिकेंगे एलईडी बल्ब

नई दिल्ली। अब शीघ्र ही लोग पेट्रोल पंपों पर ऊर्जा कुशल एलईडी बल्ब, ट्यूबलाइट और छत के पंखे बहुत सस्ते दामों पर खरीद पाएंगे। उपभोक्ताओं को इन स्थानों पर 65 रुपए में एलईडी, 230 रुपए में ट्यूबलाइट और 1150 रुपए में छत के पंखे मिलेंगे।

तीन सरकारी पेट्रोलियम विपणन कंपनियां – हिंदुस्तान पेट्रोलियम, इंडियन ऑयल और भारत पेट्रोलियम ये उपकरण सरकारी कंपनी इनर्जी एफिशिएंसी सर्विसेज लिमिटेड ईईएसएल से आउटसोर्स करेंगी। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इन उपकरणों की बिक्री के लिए इन विपणन कंपनियों और ईईएसएल के बीच आज करार होना था लेकिन पर्यावरण मंत्री अनिल दवे के निधन के कारण इसे टाल दिया गया।

सहमति पर पर हस्ताक्षर की नई तारीख शीघ्र ही तय की जाएगी जिसके करीब एक महीने बाद पेट्रोल पंपों पर ये उत्पाद उपलब्ध हो जाएंगे। वैसे इन तीनों विपणन कंपनियों के देशभर में 53000 से अधिक पेट्रोल पंप हैं लेकिन फिलहाल यह तय नहीं हुआ है कि ये उपकरण इन कंपनियों के इन सारे पेट्रोल पंपों पर अंतत उपलब्ध होंगे या नहीं।

AAP को 2 करोड़ का चंदा देने वाली कंपनी का मालि क आया सामने।

नई दिल्ली : आप के पूर्व विधायक व मंत्री कपिल मिश्रा के आरोपो का जवाब देने के लिये 2 करोड़ चंदा देने वाली कंपनी का मालिक मीडिया के सामने आया है. एनडीटीवी से बातचीत में उस शख्स ने स्वीकार किया है कि जिन कंपनियों के नाम से 50-50 लाख कर 2 करोड़ रूपये का चंदा 2014 में आप को दिया है वह फर्जी नही वह उसकी अपनी कंपनी है.

उत्तर पूर्वी दिल्ली के गंगा विहार में रहने वाले मुकेश शर्मा ने कहना है मैंने AAP को 2 करोड़ का चंदा डिमांड ड्राफ़्ट के जिरिये दिया था. मुकेश शर्मा ने बताया कि वो राजनीतिक पचड़े में नहीं पड़ना चाहते थे इसलिए जब यह मामला दो साल पहले उठा तब मीडिया के सामने नहीं आए.

मुकेश ने बताया कि मैं अरविंद केजरीवाल को नहीं जानता न उनसे मिला केवल चंदा देते समय पार्टी के सेक्रेटरी पंकज गुप्ता और खजांची संजू से मिला था. मैंने इसलिए चंदा दिया क्योंकि मुझे लगता था कि ये राजनीति में कुछ अच्छा करने आए हैं.

आपको बता दें कपिल मिश्रा और उनके सहयोगी ने आम आदमी पार्टी पर फ़र्ज़ी कंपनियों से 2 करोड़ का चंदा लेने का आरोप लगाया था और इस मामले में अभी तक कुछ सामने नहीं आ रहा था, न कंपनी का ही कोई अता-पता मिल रहा था, लेकिन यह पहली बार है कि किसी ने सामने आकर कहा है कि कंपनियां असली हैं और चंदा उसने दिया है.