नई दिल्ली: दिल्ली विश्वविद्यालय छात्रसंघ चुनाव के नतीजे आ गए हैं. चुनाव में एबीवीपी को तगड़ा झटका देते हुए एनएसयूआई ने अध्यक्ष उपाध्यक्ष और संयुक्त सचिव पदों पर कब्जा कर लिया है. सचिव पद पर एबीवीपी की जीत हुई है. अध्यक्ष पद पर एनएसयूआई के रॉकी तुसीद जीते हैं.

डूसू अध्यक्ष पद के लिए मुख्य उम्मीदवारों में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के रजत चौधरी, एनएसयूआई के रॉकी तूशीद, आइसा की पारुल चौहान, निर्दलीय उम्मीदवार राजा चौधरी और अल्का शामिल थे. सभी प्रमुख छात्र संगठनों के प्रतिनिधियों को मतदान केंद्र के बाहर मौजूद देखा गया था.

पिछले साल जहां डूसू चुनाव में 36.9 फीसद वोट पड़े थे, तो वहीं इस साल मॉर्निंग कॉलेज के 32 कॉलेजों में ही कुल 44 फीसद वोट डाले गए. चुनाव समिति के मुताबिक मॉर्निंग कॉलेज के 77,379 छात्र-छात्राओं में से 34,051 छात्र-छात्राओं ने चुनाव में मतदान किया.

मॉर्निंग कॉलेजों में मतदान की शुरुआत थोड़ी धीमी रही. हालांकि 11 बजे के बाद मतदान करने वाले छात्रों की भीड़ कैंपस में नजर आई.

हाई कोर्ट ने दी परिणाम घोषित करने की इजाजत

कैंपस में मतदान एबीवीपी और एनएसयूआइ के बीच सीधी टक्कर देखने को मिली.  दोनों छात्र संगठनों के नेता कैंपस में जमे रहे. डीयू छात्र संघ के कई पूर्व अध्यक्ष भी कैंपस में दिखे. इस बीच दिल्ली हाई कोर्ट ने डूसू के अध्यक्ष पद के नतीजे घोषित करने की इजाजत भी दे दी है.

पिछले 4 साल से एबीवीपी डूसू पर काबिज

पिछले साल एबीवीपी ने डूसू के सेंट्रल पैनल में 4 में से 3 सीटों पर कब्जा जमाया था. पिछले 4 साल से एबीवीपी डूसू पर काबिज है ऐसे में रामजस कॉलेज विवाद के बाद एवीबीपी के लिए डूसू का दंगल जीतना किसी चुनौती से कम नहीं है.