Tag Archive: लाल किले की प्राचीर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण की 15 बड़ी बातें

लाल किले की प्राचीर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण की 15 बड़ी बातें

पीएम ने अलग अलग मुद्दों पर राय जाहिर की और आम जनमानस को भरोसा दिया. पीएम के भाषण की बड़ी बातें यहां देखिए...
पीएम ने अलग अलग मुद्दों पर राय जाहिर की और आम जनमानस को भरोसा दिया. पीएम के भाषण की बड़ी बातें यहां देखिए…

नई दिल्ली. स्वतंत्रता दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाल किले की प्राचीर से देश को संबोधित किया. पीएम ने अलग अलग मुद्दों पर राय जाहिर की और आम जनमानस को भरोसा दिया. पीएम के भाषण की बड़ी बातें यहां देखिए…

कश्मीरः आज भारत की साख विश्व में बढ़ रही है, आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में पूरी दुनिया हमारे साथ हैं. हवाला कारोबार होता है तो दुनिया हमें जानकारी दे रही है, हम विश्व के साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम कर रहे हैं. जम्मू-कश्मीर का विकास, उन्नति और उनके सपनों को पूरा करना हमारा संकल्प है, फिर से इसे स्वर्ग बनाना है. कश्मीर के अंदर जो कुछ भी होता है, बयानबाजी भी होती है, लोग एक दूसरे को गाली भी देते हैं. कश्मीर में जो कुछ भी घटनाएं घटती हैं, मुठ्ठी भर अलगाववादी लड़ते हैं. लेकिन ये समस्या ना गाली से सुलझेगी, ना ही गोली से सुलझेगी… ये समस्या सुलझेगी तो सिर्फ हर कश्मीरी को गले लगाने से ही सुलझेगी.

तीन तलाकः देश में ‘तीन तलाक’ के विरुद्ध माहौल बना है. मुझे विश्वास है कि बहनों की इस लड़ाई में हिंदुस्तान इनकी पूरी मदद करेगा. तीन तलाक से पीड़ित बहनों को न्याय दिलाने की कोशिश करूंगा. तीन तलाक से पीड़ित महिलाओं ने अपने आंदोलन से देश के बुद्धिजीवी वर्ग को हिला दिया, इन महिलाओं का हक दिलाने में देश मदद करेगा.

नोटबंदीः नोटबंदी के बाद 18 लाख लोगों की आय और व्यय में अंतर पाया गया. 4.5 लाख लोग जवाब देने के लिये आगे आये. नोटबंदी के बाद तीन लाख करोड़ रुपये बैंकों में आये. इसमें से 1.75 लाख करोड़ रुपये जांच के घेरे में हैं. दो लाख करोड़ रुपये का कालाधन बैंकों में आया और उसे व्यवस्था में आने को मजबूर होना पड़ा.

आईटी रिटर्नः एक अप्रैल से पांच अगस्त 2017 तक 56 लाख नये लोगों ने आयकर रिटर्न दाखिल किये जबकि एक साल पहले यह संख्या 22 लाख थी. एक लाख ऐसे लोगों हैं जिन्होंने जिंदगी में कभी इनकम टैक्स का नाम नहीं सोचा था.

डिजिटल इंडियाः प्रधानमंत्री ने डिजिटल भुगतान पर जोर देते हुए कम नकदी वाली अर्थव्यवस्था की ओर बढ़ने का आह्वान किया. उन्होंने कहा कि पिछले एक साल में डिजिटल भुगतान में 34 प्रतिशत वृद्धि हुई है.

न्यू इंडियाः हम सब मिलकर 2022 तक भव्य भारत बनाएंगे जिसमें सबके पास अपना पक्का घर होगा, बिजली होगी, किसानों की आय दोगुनी होगी और वे चैन की नींद सोएंगे. प्रधानमंत्री ने देशवासियों के साथ मिलकर ऐसा भारत बनाने का संकल्प जताया जिसमें युवाओं, महिलाओं को अपने सपने पूरा करने के अवसर उपलब्ध होंगे. उन्होंने कहा कि हमें आतंकवाद, सांप्रदायिकता और जातिवाद से मुक्त भारत बनाना है. नया भारत समृद्ध हो, शक्तिशाली हो और विज्ञान के क्षेत्र में भारत का दबदबा हो, ऐसा भारत हमें बनाना है.

2017-08-15 (1)

3 लाख कंपनियों पर तालेः नोटबंदी के बाद डाटा माइनिंग किया गया तो पता चला कि तीन लाख ऐसी कंपनिया हैं जो काल धंधा और हवाला का कारोबार कर रही हैं. हमने पौने दो लाख कंपनियों पर ताले लगा दिए. देश लूटने वालों को जवाब देना पड़ेगा. हमने वो काम कर दिया. कुछ तो ऐसी भी हैं कि एक ही एड्रेस पर 400 कंपनिया चल रही हैं. सारी मिली भगत चल रही थी कोई देखने वाला नहीं था. तीन लाख कंपनियां मुखौटा कंपनियां हैं, पौने दो लाख मुखौटा कंपनियों का पंजीकरण रद्द किया गया, एक ही पते पर 400-400 कंपनियां चल रही थी, पूरी तरह मिलीभगत का खेल हो रहा था.

बेनामी संपत्तिः देश में ईमानदारी का उत्सव मनाया जा रहा है, बेईमानों को सिर छिपाने की जगह नहीं मिल रही और सरकार ने 800 करोड़ रुपये की बेनामी संपित्त जब्त की.

जीएसटीः प्रधानमंत्री ने जीएसटी की सफलता सराहा, इतने कम समय में इतने बड़े देश में जीएसटी लागू होने पर उन्होंने गर्व जताया.

गोरखपुर में बच्चों की मौत परः गोरखपुर के सरकारी अस्पताल में 70 से अधिक बच्चों की मौत पर प्रधानमंत्री ने कहा कि पूरे देश को इन बच्चों की मौत और प्राकृतिक आपदाओं में लोगों की जान जाने का दुख है और पूरे देश की सहानुभूति प्रभावित परिवारों के साथ है. उन्होंने कहा, ‘एक अस्पताल में बच्चों की मौत हो गयी और पूरा देश उनके साथ है.’ मोदी ने कहा कि 125 करोड़ देशवासियों की संवेदनाएं उनके साथ है तथा पूरा देश उनके साथ है. सरकार उनकी यथासंभव मदद करेगी.’

प्राकृतिक आपदाः मोदी ने कहा, ‘प्राकृतिक आपदाएं एक बड़ी चुनौती बन गई हैं. अच्छी वर्षा से देश की संपत्ति बढ़ती है. किन्तु मौसम में बदलाव के कारण समस्याएं उत्पन्न हो रही हैं.’ उन्होंने कहा, ‘हाल के समय में देश के कई हिस्सों में प्राकृतिक आपदा का सामना करना पड़ा.

मुद्रा कार्ड और एलपीजी कनेक्शनः करीब नौ करोड़ किसानों को मृदा कार्ड और 2.5 करोड़ गरीब महिलाओं को एलपीजी गैस कनेक्शन दिये गये. पिछले तीन साल में प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत करोड़ों नौजवानों ने अपने पैरों पर खड़े होकर रोजगार के अवसर पैदा किये. किसान को बीज से लेकर बाजार तक की सुविधा उपलब्ध कराने के लिये एफडीआई नीति को उदार बनाने सहित अनेक कदम उठाये गये. गरीबों को नि:शुल्क गैस कनेक्शन देने की उज्ज्वला योजना, स्वच्छता अभियान समेत सभी क्षेत्रों में देशवासियों का सरकारी योजनाओं को समर्थन मिला.

रफ्तार से कामः हम नौ महीने में मंगलयान से मंगल पर पहुंच सकते हैं लेकिन 42 साल से एक छोटी सी रेल परियोजना अटकी पड़ी थी, हमारी सरकार ने परियोजनाओं के तेजी से क्रियान्वयन पर ध्यान दिया. ट्रेन भी ट्रैक बदलती है तो ट्रेन की स्पीड कम हो जाती है। हम देश को नए ट्रैक पर ले जाने का प्रयास कर रहे हैं, लेकिन हमने स्पीड कम नहीं होने दी.

दाल का रिकॉर्ड उत्पादनः देश में प्राकृतिक आपदाओं के बावजूद रिकार्ड फसल उत्पादन, दाल का उत्पादन नई ऊंचाई पर, सरकार ने 16 लाख टन दाल की खरीदारी की.

भारत जोड़ो का नाराः यह देश बुद्ध का है, गांधी का है. यहां आस्था के नाम पर हिंसा के रास्ते को बढ़ावा नहीं दिया जा सकता. उस वक्त नारा था भारत छोड़ो और आज हमारा नारा है, ‘भारत जोड़ो’.