नई दिल्ली। आपने ऐसे किसी नवजात बच्चे के बारे में नहीं सुना होगा जो ‘प्रेग्नेंट’ हो. लेकिन ऐसा अजीबोगरीब मामला सामने आया है. मुंबई के मुंब्रा में 19 वर्षीय महिला ने एक ऐसे बच्चे को जन्म दिया, जिसके पेट में उसका जुड़वां भाई था. इस बात का पता तब चला जब बच्चे का रूटीन स्कैन चल रहा था. स्कैन के दौरान पाया गया कि उस बच्चे के पेट में एक भ्रूण पल रहा था यानी वह बच्चा प्रेग्नेंट था.

बच्चे के पेट में पल रहा भ्रूण पूरी तरह विकसित नहीं था. उसके हाथ, दिमाग और पैर तैयार हो चुके थे लेकिन स्कल बोन नहीं था. डॉक्टरों ने ऑपरेशन कर नवजात बच्चे के पेट से 7 सेंटीमीटर लंबा मांस का वह टुकड़ा निकाल दिया.

डॉक्टरों ने बताया कि नवजात बच्चे के पेट में पल रहा भ्रूण उसका जुड़वां भाई ही था. इस विचित्र जन्मजात अनियमितता को ‘फीटस इन फीटो’ (भ्रूण के भीतर भ्रूण) कहा जाता है.

विश्व में ऐसे 200 मामले सामने आ चुके हैं. एक्सपर्ट्स ने बताया कि यह मामला मोनोजाइगोटिक ट्विन प्रेग्नेंसी का है जिसमें दो भ्रूण एक ही गर्भनाल से जुड़े होते हैं. ऐसे मामलों में एक भ्रूण दूसरे को पूरी तरह कवर कर लेता है. इस वजह से मां के जरिए मिलने वाला पोषण दूसरे भ्रूण तक नहीं पहुंच पाता जिससे उसका विकास बाधित होता है.