अभिनेता अनिल कपूर का कहना है कि अगर पद्मिनी कोल्हापुरे फिल्म ‘वो सात दिन’ में उनके साथ काम के लिए राजी नहीं हुई होतीं तो वह आज जो कुछ हैं, नहीं होते. अनिल ने पद्मिनी के जन्मदिन के मौके पर बुधवार को वर्ष 1983 की फिल्म ‘वो सात दिन’ से एक तस्वीर जारी करते हुए लिखा, “पद्मिनी कोल्हापुरे को जन्मदिन की बधाई. मैं आज जो कुछ हूं, पद्मिनी कोल्हापुरे की वजह से हूं, क्योंकि वह ‘वो सात दिन’ के लिए राजी हुईं.”

बापू द्वारा निर्देशित ‘वो सात दिन’ डॉ. आनंद के इर्द-गिर्द घूमती है, जिन्हें पता चलता है कि उनकी नवविवाहित दुल्हन माया किसी और को प्यार करती है. वह हतोत्साहित होकर भी, किसी भी कीमत पर दोनों प्रेमियों को मिलाने का निश्चय करते हैं और उस व्यक्ति की तलाश में जुट जाते हैं.

वर्तमान में अनिल अभिनेत्री ऐश्वर्य राय बच्चन के साथ आगामी फिल्म ‘फन्ने खां’ में काम कर रहे हैं.

संगीतमय कॉमेडी फिल्म का निर्देशन अतुल मांजरेकर ने किया है.

राकेश ओमप्रकाश मेहरा, क्रीअर्ज एंटरटेनमेंट और टी-सीरीज द्वारा निर्मित ‘फन्ने खां’ ऑस्कर-नामांकित वर्ष 2000 की डच फिल्म ‘एवरीबडीज फेमस’ का आधिकारिक रीमेक है.

यह 13 अप्रैल, 2018 को दुनिया भर में रिलीज होगी.