New Delhi Latest News

जेल जाने से पहले सुहाग की निशानी तक उतरवा ली गई थी कनिमोझी से!

20 मई 2011 को वो दिन, 21 दिसंबर 2017 की ही तरह उस दिन भी सुबह वह अपने घर से कोर्ट के लिए हंसते हुए निकलीं थीं. 21 दिसंबर को उनकी जिंदगी में खुशी का दिन था लेकिन 20 मई उनके जीवन में वह बुरा दिन थी, जिसे वह कभी याद रखना नहीं चाहेंगी. उस दिन कोर्ट रूम में कनिमोझी, उनके पति अरविंद, टेलीकॉम घोटाले में पहले से गिरफ्तार ए राजा और कनिमोझी की मां एक साथ ही बैठे थे. बीच-बीच में वो कभी अपने पति से बात करतीं और साथ ही ए राजा से भी सवाल-जवाब कर रही थीं. कोर्ट रूम में पहुंचने वाले तमाम डीएमके समर्थकों को वो सिर्फ नमस्कार में जवाब दे रही थीं. इस वक्त और साफ नजर आया कि कनिमोझी किसी से बात नहीं करना चाहतीं.

पुलिस ने कनिमोझी को हिरासत में लिया और कोर्ट रूम से बाहर ले गई. कनिमोझी कॉरिडोर में थीं और सामने ही लॉकअप का दरवाजा था. यहां कनिमोझी खुद को संभाल नहीं पाईं और पति अरविंद के गले लगकर रोने लगीं. अरविंद की आंखों में भी आंसू आ गए. ये दृश्य देखकर वहां खड़े डीएमके समर्थक भी जोर जोर से रोने लगे. सभी समझ चुके थे कि ये क्या हो रहा है.

लॉकअप में ले जाने से पहले कनिमोझी से कहा गया कि वह अपने सभी गहने उतार दें. कनिमोझी ने सारे गहने उतार दिए, सिवाय नाक की कील के. उन्होंने इसे उतारने से इनकार कर दिया और कहा कि ये उनके लिए सुहाग की निशानी है. कनिमोझी ने विनती की कि इसे न लिया जाए. पत्नी की बात का समर्थन करते हुए अरविंद भी पुलिसवालों को समझाने लगे. किसी भी बात को न मानते हुए पुलिस ने साफ किया कि उन्हें इसे उतारना ही होगा. इसके बाद, बड़े ही बेमन से कनिमोझी ने पुलिस की बात मानी और अपनी सुहाग की निशानी उतारकर पुलिस को दे दी. इसके बाद उन्हें लॉकअप के अंदर ले जाया गया.

All the people of the industry who were accused have suffered enough, licenses cancelled, they were also unable to travel abroad: Mukul Rohatgi,former Attorney General #2GScamVerdict

All the people of the industry who were accused have suffered enough, licenses cancelled, they were also unable to travel abroad: Mukul Rohatgi,former Attorney General

#Congress leaders are treating this judgement as some kind of a badge of honor & a certification that it was an honest policy: Arun Jaitley #2GScamVerdict

Congress leaders are treating this judgement as some kind of a badge of honor & a certification that it was an honest policy: Arun Jaitley