मेट्रो किराये में बढोतरी को लेकर व्यापारि यों का विरोध

दिल्ली मेट्रो के किराये में बढोतरी को लेकर व्यापारी वर्ग भी नाराज है और इसी को लेकर आप ट्रेड विंग ने केन्द्रीय शहरी विकास राज्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी को पत्र लिखकर किराया ना बढाने की गुजारिश की है । आप ट्रेड विंग का कहना है कि किराया बढाये जाने पर खासतौर पर व्यापारी अपने निजी वाहनों का ज्यादा उपयोग करेंगे जिससे ना केवल सड़कों पर ट्रैफिक बढेगा बल्कि प्रदूषण और पार्किंग की समस्या भी उत्पन्न होगी ।
आप ट्रेड विंग के प्रदेश कन्वीनर बृजेश गोयल और अध्यक्ष सुभाष खंडेलवाल ने बताया कि दिल्ली मेट्रों में रोजाना लगभग 5 लाख व्यापारी सफर करते हैं और साथ ही उनके यहां काम करने वाले 2 से 3 लाख कर्मचारी भी रोजाना मेट्रो ट्रेन से सफर करते हैं । 5 महीने पहले ही 8 मई 2017 को मेट्रो का किराया 50 प्रतिशत से अधिक बढाया गया था , इसके बाद से प्रतिदिन के हिसाब से लगभग 2 लाख यात्री कम हुये हैं , अब अगर 10 अक्टूबर से मेट्रो का किराया फिर से बढाया गया तो लोग मेट्रो को छोड़कर अपने निजी वाहनों का उपयोग करना शुरू कर देंगे ।
दिल्ली के प्रमुख बाजारों कशमीरी गेट , मोरी गेट , चांदनी चौक , भागीरथ प्लेस , चावड़ी बाजार , सदर बाजार , खारी बावली , करोल बाग , नेहरू प्लेस , लाजपत नगर , कनाॅट प्लेस आदि बाजारों में मेट्रो कनेक्टिविटी सुगम होने के कारण यहां के अधिकांश कारोबारी मेट्रो ट्रेन में आना जाना पसंद करते हैं ।
बहुत सारे दुकानदार ऐसे हैं जिनके एक ही परिवार के 2 – 3 लोग रोजाना दुकान आते जाते हैं , अगर एक व्यक्ति का एक तरफ का किराया 40 रूपये हुआ तो 3 लोगों का आने जाने का किराया 240 रूपये हो जायेगा , ऐसी स्थिति में लोग अपने निजी वाहन से आना जाना पसंद करेंगे ।
इसलिये आप ट्रेड विंग की केन्द्र सरकार से मांग है कि मेट्रो किराये में बढोतरी के फैसले पर रोक लगाकर इसकी पुनर्समीक्षा की जाये ।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *