Daily Archive: August 8, 2018

नीरज की याद में जुटे देश के दिग्गज कवि, काव् यांजिल में किया याद

नीरज की याद में जुटे देश के दिग्गज कवि, काव्यांजिल में किया याद

नई दिल्ली, 08 अगस्त (हि.स.)। सदी के महान कवि, पद्म भूषण गोपाल दास नीरज की स्मृति में आज दिल्ली के दिल कनॉट प्लेस के पास देश के लगभग सभी प्रतिष्ठित कवियों का जमावड़ा हुआ। एनडीएमसी कन्वेंशन सेंटर में आयोजित इस समारोह नीरज स्मृति न्यास के गठन की विधिवत घोषणा की गई।

ऐसे कम ही अवसर हुए हैं जब इतनी बड़ी संख्या में देश के सभी प्रतिष्ठित कवि एक मंच पर साथ आए हों। यह कवि नीरज प्रसिद्धि और लोकप्रियता का ही प्रमाण था कि कवि सोम ठाकुर, कुंवर बेचैन, सुरेन्द्र शर्मा, मुनव्वर राणा, अशोक चक्रधर, बुद्धिनाथ मिश्र, हरिओम पंवार, राजेन्द्र राजन, सरिता शर्मा, डा. गोविन्द व्यास, सीता सागर, सुमन दुबे और शशांक प्रभाकर प्रमुख रूप से शामिल हुए।

काव्यांजलि समारोह के मुख्य अतिथि के तौर पर देश के संस्कृति मंत्री डॉ. महेश शर्मा थे। उन्होंने बड़ी साफगोई से स्वीकार किया कि जो सच कहने की ताकत कवियों के पास होती है, वह राजनेताओं के पास नहीं होती। उन्होंने कहा कि नीरज

नीरज स्मृति न्यास के अध्यक्ष एवं राज्यसभा सदस्य आरके सिन्हा ने समारोह में बताया कि न्यास प्रतिवर्ष नवोदित कवियों को प्रोत्साहित करने के लिए पांच लाख रुपए का पुरस्कार देगा। यह पुरस्कार किसी एक नवोदित कवि या कवियों को दिया जाएगा।

नीरज स्मृति न्यास द्वारा आयोजित इस समारोह को हिन्दुस्थान समाचार बहुभाषी न्यूज एजेंसी ने प्रायोजित किया था।

अतुल्य भारत के कार्यक्रम का हुआ भव्य शुभा रंभ.

नई दिल्ली, 8 अगस्त, 2018: संस्कृति मंत्रालय के अंतर्गत कार्यरत NCZCC की और से 5 दिवसीय अतुल्य भारत कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। इस कार्यक्रम का शुभारंभ श्री इंद्रजीत ग्रोवर ( डायरेक्टर NCZCC) ने सभी कलाकारों के साथ मिलकर किया।

कार्यक्रम की शुरुआत हैंडलूम हाउस में स्थित चित्रकला शिविर एवं शिल्प मेला हैंडलूम हाट का आयोजन किया गया जिसमें देश के विभिन्न विभिन्न राज्यों के लोगों ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया।

इस कार्यक्रम में दिल्ली एनसीआर के 20 चित्रकारों ने हिस्सा लिया। सभी चित्रकारों ने देश मे अतुल्य भारत के ऊपर अपनी चित्रकारी की। सभी चित्रकारों ने कहा की देश किसी इमारत से नही बल्कि देश हम जैसे लोगों से बनता है और इसीलिए यह अतुल्य भारत का कार्यक्रम किया गया।

साथ ही इस कार्यक्रम में शिल्पकला प्रदर्शनी का मेला भी लगाया जा रहा है। इस मेले में देश भर के कई राज्यों जैसे जयपुर, छत्तीसगढ़, कोलकाता, बनारस, हैदराबाद ने हिस्सा लिया और तरह तरह की शिल्पकला का प्रदर्शन किया।
इस मेले में खास थी छत्तीसगढ़ की लोहशिल्प कला, जो लोगों को काफी पसंद आई।

इस कार्यक्रम में तरह तरह के फ़ूड स्टाल्स भी लगे है। जिसमें आपको राजस्थान की बीकानेरी जलेबी से लेकर लखनवी चाट का स्वाद चखने को मिलेगा।

इस कार्यक्रम में NCZCC के डायरेक्टर इंद्रजीत ग्रोवर ने कहा कि अतुल्य भारत कार्यक्रम का आगाज़ बड़े जोर शोर से हुआ है, ओर NCZCC के सारे कर्मचारी इस कार्यक्रम को इतना शानदार बनाने के लिए बधाई के पात्र है। साथ ही श्री इंद्रजीत ग्रोवर ने यह भी कहा कि दिल्ली में और भी ऐसे कार्यक्रम का आयोजन होता रहेगा।

एनएमओपीएस ने पुरानी पेंशन के लिए दस्तक दी संसद में ၊ सड़क से संसद तक गरमाया मुद्दा विजय बंधुओं ने दी विभिन्न दलों के नेताओं से किया स ंपर्क पेंशन के मुद्दे पर सर्वदलीय बैठक बुलान े की की मांग

आज दिल्ली में पुरानी पेंशन के लिए प्रदेश और देश में लगातार संघर्षरत n m o p s अपने चरणबद्ध आंदोलन को और किया तेज , इसी कड़ी में पुरानी पेंशन बहाली राष्ट्रीय आंदोलन (nmops) के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री विजय कुमार बंधु के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल संसद सत्र के दौरान 7.8.2018 को विभिन्न दलों के सांसदों एवं नेताओं से मुलाकात किया ,और पुरानी पेंशन बहाली के लिए अपील किया तथा पार्टी स्तर पर पेंशन व्यवस्था का उनका तथा उनकी पार्टी का रुक जानना चाहा व्यक्तिगत रूप से अधिकांश सांसदों ने शिक्षकों कर्मचारियों के मत से सहमत दिखे और पार्टी स्तर पर अपने रुख को जल्द स्पष्ट करने की बात कही श्री बंधु ने पुरानी पेंशन बहाली के लिए सभी पार्टियों से एक सर्वदलीय बैठक कर तत्काल निर्णय लिए जाने की अनुरोध किया जिस पर कई नेताओं ने सहमति जताई ၊प्रतिनिधिमंडल ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश ,भाजपा के राजीव प्रताप रूडी .आम आदमी के सांसद संजय सिंह, टीएमसी के एस राय, सपा के विशंभर प्रसाद निषाद ,राजद के मनोज झा, शिवसेना के संजय राउत, वरिष्ठ सांसद शरद यादव . राजीव विस्वाल (उडीसा) सहित कई दलों के नेताओं से पुरानी पेंशन बहाली के लिए दलों की सीमाओं को तोड़कर लगभग पचास लाख शिक्षकों / कर्मचारियों एवं उनसे जुडे 2.50 करोण लोगो के हित के लिए एक ऐतिहासिक फैसला करने की अपील की ၊၊၊ अटेवा के प्रदेश महामंत्री डॉक्टर नीरजपति त्रिपाठी एवं दिल्ली प्रभारी n m o p s मनजीत सिंह ने बताया कि पेंशन के मुद्दे पर कई दलों के सांसदों ने सदन में मुद्दा उठाया है हम उन्हे साधुबाद देते हैऔर साथ ही चेतावनी दी कि यदि इस पर तत्काल विचार नहीं किया गया तो 26 अक्टूबर 18 को देशभर के सांसदों के आवास पर 1 दिन का सामूहिक उपवास पेंशन विहीन कर्मचारी करेगा ၊ यदि उसके बाद भी कोई निर्णय नहीं लिया जाता है तो 26 नवंबर 2018 को संसद भवन का घेराव किया जाएगा၊၊ प्रतिनिधिमंडल में श्री विजय कुमार बन्धु के साथ डॉक्टर नीरजपति त्रिपाठी ,मनजीत सिंह डॉ राजेश यादव ,अभिनव सिंह राजपूत , आकिल अख्तर, पवन यादव इत्यादि शामिल रहे၊

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने मेट्रो क िराए को सस्ता करने तथा छात्रों को रियायती पास देने हेतु नॉर्थ कैंपस में किया प्रदर्शन

‌अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने दिल्ली विश्वविद्यालय के नॉर्थ कैंपस में दिल्ली मेट्रो रेलवे कॉर्पोरेशन के खिलाफ प्रदर्शन किया और आर्ट्स फैकल्टी से छात्र मार्च करते हुए विश्वविद्यालय मेट्रो स्टेशन तक गए तथा विश्वविद्यालय मेट्रो स्टेशन के बाहर प्रशासन के खिलाफ जोरदार नारेबाजी की। छात्रों ने केन्द्र और राज्य सरकार से मांग की छात्रों को मेट्रो पास दिए जाएं जिससे छात्रों की परिवहन की समस्या दूर हो सके। छात्रों ने मेट्रो स्टेशन के बाहर जमकर नारेबाजी की।

एबीवीपी के प्रदेश मंत्री भरत खटाना ने कहा कि "एबीवीपी पिछले कई वर्षों से मेट्रो किराए में रियायत के लिए संघर्षरत है,हम छात्रों को परिवहन सुगमता मिल पाये इसके पक्ष में हैं। मेट्रो में बढ़ा किराया और उस पर भी रियायत न मिलना छात्रों को अत्यधिक परेशान करने वाला है। हम तब तक संघर्ष करेंगे जब तक छात्रों को मेट्रो पास न मिल जाए।"

Amrapali case: SC observed, “Either you give home or flats to home buyers or else we will sell all your flats to ensure raising required amount of the funds so that the unfinished projects can be constructed.

Amrapali case: SC observed, “Either you give home or flats to home buyers or else we will sell all your flats to ensure raising required amount of the funds so that the unfinished projects can be constructed.We will make you homeless, unless you give the flats to the homebuyers.”

Amrapali case: Supreme Court warned the company, its promoters and directors not to play smart with the Court or be ready to face consequences. SC has fixed the matter for further hearing to August 14.

Amrapali case: Supreme Court warned the company, its promoters and directors not to play smart with the Court or be ready to face consequences. SC has fixed the matter for further hearing to August 14.