Daily Archive: June 7, 2018

Sensex Surges Over 400 Points; Nifty Above 10,800 On Good Monsoon Hopes

The S&P BSE Sensex surged over 400 points on Thursday and was trading firmly above the 35,550 level on hopes of good monsoon rains. At 1 pm, the Sensex was up 403.12 points or 1.15 per cent higher at 35,582 level while the broader Nifty50 was at 10,803.05, up 118.40 points or 1.11 per cent. The gains in the 50-share Nifty50 pack of the National Stock Exchange (NSE) were led by Vedanta (up 3.49 per cent), Tata Steel (up 3.36 per cent), Axis Bank (up 3.22 per cent), ICICI Bank (up 2.71 per cent), and Tata Motors (up 2.28 per cent). Forty two out of 50 stocks in the Nifty50 index advanced. At the intra-day high, the Sensex was at 35,584.78 level as it surged 405.9 points over Wednesday’s close of 35,178.88 points.

पूर्वी दिल्ली की सड़कों पर नो पार्किंग जो न में कार खड़ी करने वालों पर लगेगा कड़ा जुर्मा ना , ईस्ट एमसीडी ने पेश किए नए प्रस्ताव

पूर्वी दिल्ली की सड़कों पर नो पार्किंग जोन में अपनी कार खड़ी करने वालों की जेबों पर भार पड़ने वाला है । आपको बता दे की

ईस्ट एमसीडी के लाइसेंसिंग और इनफोर्समेंट सेल ने एक प्रस्ताव बनाया है |

नए प्रस्ताव के मुताबिक नो पार्किंग की जगह से वाहन उठाए जाने पर 28 हजार रुपए का जुर्माना लगाया जाएगा। इसमें से 15 हजार रुपए का कंपोजिशन चार्ज, 5 हजार रुपए का टोइंग चार्ज और वाहन को रखने के लिए हर दिन 8 हजार रुपए का स्टोरेज चार्ज देना होगा। इतना ही नहीं अतिक्रमण करने वाले दुकानदारों और रेहड़ी वालों से वसूले जाने वाले जुर्माने में भी बढ़ोतरी का प्रस्ताव लाया गया है।

एमसीडी के अधिकारियों का इस प्रस्ताव को लेकर कहना है कि अतिक्रमण विरोधी मुहिम का जुर्माना बेहद कम होने के चलते ही अतिक्रमण करने वालों के मन में किसी भी तरह का डर नहीं है, ऐसे में जुर्माने की राशि में बढ़ोत्तरी की जानी चाहिए। अगर बात करें हॉकर्स, गाड़ियों के वर्कशॉप, गैर लाइसेंसी रेहड़ी, जूस की रेहड़ी, पानी की ट्रॉली, हेवी मशीन वालों पर लगने वाली कंपोजिशन फीस की तो इसमें भी बढ़ोत्तरी की गई है। साथ ही इन सभी सख्त कदम के बाद भी अगर एक कैलंडर वर्ष में दूसरी बार सामान उठाया जाता है तो उस पर 50 फीसदी ज्यादा जुर्माना लगेगा। वहीं, दो से ज्यादा बार अगर सामान उठाया जाता है तो दोगुना जुर्माना वसूला जाएगा।

वहीं, फिलहाल पूर्वी दिल्ली के मेयर बिपिन बिहारी सिंह ने इस प्रस्ताव को खारिज कर दिया है। खारिज करने की वजह बताते हुए उन्होंने कहा कि जहां भी आर्थिक मामले होते है उन पर फैसले से पहले स्टैंडिंग और फिर सदन में चर्चा के लिए रखा जाता है। इस मामले में ऐसा कुछ भी नहीं किया गया है। इसके साथ ही मेयर ने अपनी बात रखते हुए कहा कि इस फैसले को फिलहाल लागू करने की कोई जरूरत नहीं है।

विधानसभा में दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनी ष सिसोदिया ने कई मुद्दों पर उठाई आवाज , केंद्र सरकार और एलजी पर साधा निशाना

दिल्ली की विधानसभा में आप पार्टी के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कई मुद्दों पर आवाज उठाई | साथ ही केंद्र सरकार और एलजी पर भी निशाना साधा | आपको बता दे की दिल्ली को पूर्ण राज्य के दर्जे का मुद्दा उठाते हुए उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने आप सरकार की उन परियोजनाओं और प्रस्तावों का जिक्र किया जो केंद्र और उपराज्यपाल के हस्तक्षेप के कारण फंसे हुए हैं। इनमें जनलोकपाल और स्वराज जैसे मुद्दे भी शामिल हैं।

सिसोदिया ने कहा कि जनलोकपाल बिल इसलिए पास नहीं हो पाया,क्योंकि दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा प्राप्त नहीं है। पिछले 3 साल से सरकार काम कर रही है अगर जनलोकपाल आ जाता तो भ्रष्टाचारी जेल में होते। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के इशारे पर दिल्ली सरकार के काम को रोकना ही उपराज्यपाल का एकमात्र काम रह गया है।

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि जनलोकपाल बिल पास कर केंद्र सरकार को भेजा है,अगर वह पास हो जाता तो दिल्ली में जीरो करप्शन होता। उन्होंने कहा कि पूर्ण राज्य का दर्जा नहीं होने के चलते मोहल्ला सभाओं के गठन में उपराज्यपाल ने टांग अड़ा दी। मोहल्ला सभाओं से स्वराज का रास्ता खुलता।

उन्होंने कहा कि उपराज्यपाल से मंजूरी लेना हमारी मजबूरी है। पूर्ण राज्य का दर्जा होता तो उपराज्यपाल को फाइल भी भेजनी नहीं पड़ती। उन्होंने कहा कि मोहल्ला क्लीनिक बनाने के लिए कई एजेंसियों से अनुमति लेनी पड़ती है। पूर्ण राज्य का दर्जा होता तो एक साल में 1000 मोहल्ला क्लीनिक बन गए होते,लेकिन अभी 164 ही काम कर रही हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली के मतदाताओं के पास गुडग़ांव व फरीदाबाद के मतदाताओं की तुलना में शक्तियां नहीं हैं क्योंकि वहां सरकार खुद से फैसले कर सकती है।

शॉर्ट सर्किट के कारण मकान में लगी भीषण आग , एक की मौत ,पाँच घायल

दिल्ली के आरके पुरम स्थित एक सरकारी आवास में देर रात शॉर्ट सर्किट से अचानक आग लग गयी | आग इतनी भयानक थी की एक घर के इकलौते चिराग को बुझा दिया। आपको बता दे की आग के कारण घर में मौजूद साढ़े तीन साल के एक मासूम बच्चे की दम घुटने से मौत हो गई। बच्चे के माता-पिता और बुजुर्ग नानी बुरी तरह से घायल हो गई। तीनों का सफदरजंग अस्पताल में इलाज चल रहा है।

वहीं, इस हादसे में इनकी जान बचाने पहुंचे आरके पुरम थाने में तैनात दो पुलिसकर्मी भी घायल हो गए। उन दोनों का भी अस्पताल में इलाज चल रहा है। बच्चे के पिता पंकज (37) वाणिज्य मंत्रालय में व मां स्वाति (34) रक्षा मंत्रालय में कार्यरत है। पंकज अपने परिवार के साथ आरके पुरम सेक्टर-12 टाइप-1 में बने सराकारी आवासीय परिसर के एक तीन मंजिली बिल्डिंग के फस्र्ट फ्लोर पर स्थित फ्लैट नंबर 742 में रहता है।

परिवार में पत्नी स्वाति, सास मां दर्शना और इकलौता साढ़े तीन साल का बेटा अभिनव था। देर रात करीब एक बजे फ्लैट की सीढिय़ों के नीचे बने बिजली के जंक्शन बॉक्स में शॉर्टसर्किट हो गया। इससे निकली चिंगारियों से जंक्शन बॉक्स के पास ही खड़ी दो बाइकों में आग लग गई। यह आग ने तेजी से फैलते हुए पूरे ग्राउंड फ्लोर को अपनी चपेट में ले लिया।

बिल्डिंग से धुआं निकलते देख पड़ोस के लोगों ने तत्काल पुलिस और फायर ब्रिगेड को फोन कर सूचित करने के साथ ही शोर मचा बिल्डिंग की दूसरी और तीसरी मंजिल के लोगों को नीचे बुला लिया। पर संभवत: पंकज का पूरा परिवार गहरी नींद में होने और एसी चलाने के दौरान बंद की हुई खिड़कियों के कारण उन तक नीचे से पड़ोसियों द्वारा लगाई जा रही आवाज नहीं पहुंच पाई। इसके कारण वे सभी समय रहते घर से नहीं निकल पाए और अपने फ्लैट में ही फंस गए।

इधर सूचना मिलते ही मौके पर आरके पुरम थाने के एएसआई राजपाल सिंह और हेड कांस्टेबल संजीव और उनके पीछे फायर ब्रिगेड और एंबुलेंस पहुंच गई। दोनों पुलिस कर्मियों ने बहादुरी दिखाते हुए धुएं से भरे कमरों में प्रवेश कर कमरों में बेसुध पड़े पंकज, स्वाति, स्वाति की मां दर्शना (74) व अभिनव को फ्लैट से निकालकर अस्पताल पहुंचाया। लेकिन जब तक वे अस्पताल पहुंचे धुएं के कारण दम घुटने से मासूम अभिनव की मौत हो चुकी थी। वहीं, बाकी तीनों घायलों का इलाज चल रहा है।

पड़ोसियों ने बताया कि पंकज एक साल पहले ही आवासीय परिसर में रहने के लिए आए थे। यही नहीं उनके आने के कुछ ही माह पहले उस बिल्डिंग का रेनोवेशन भी हुआ था, जिसमें फ्लैटों की मरम्मत किए जाने के साथ ही पूरी बिल्डिंग की वायरिंग भी नए सिरे से हुई थी। इसके बावजूद हादसा हो गया। लोगों ने बताया कि दोपहर में पास के ही एक और फ्लैट में शॉर्टसॢकट हुआ था। इसकी सूचना पाकर विभाग ने इसकी मरम्मत कर दी थी।

पंकज ने चार दिन पहले ही पास के एक स्कूल में गर्मियों के दौरान बच्चों के लिए आयोजित विशेष क्लास में अभिनव का एडमिशन करवाया था। वह पिछले चार दिन से स्कूल भी जा रहा था। बुधवार सुबह भी उसकी स्कूल वैन उसे लेने पहुंची लेकिन वह अपने साथियों के साथ स्कूल नहीं गया। इसके कारण उसके साथ जाने वाले बच्चे बार-बार उसके बारे में पूछ रहे थे।

Lucknow: A group of priests, including Mahant Suresh Das, are meeting CM Yogi Adityanath over the issue of Ram temple in Ayodhya today

Lucknow: A group of priests, including Mahant Suresh Das, are meeting CM Yogi Adityanath over the issue of Ram temple in Ayodhya today, say ‘Matter of the temple will have to be taken seriously. If this isn’t taken up, we’ll see what to do in 2019’. Meeting is underway.