Daily Archive: November 1, 2017

पहला टी20 Live: भारत का स्कोर 13 ओवर में 100 के पार, धवन की फिफ्टी, रोहित भी तूफानी अंदाज में

पहला टी20 Live: भारत का स्कोर 13 ओवर में 100 के पार, धवन की फिफ्टी, रोहित भी तूफानी अंदाज में

Blast in NTPC Plant in Raebareli Live: 15 Dead, 100 Injured so Far

Raebareli, Nov 1: At least 15 people were killed and over 100 were injured in a blast in NTPC’s Unchahar Plant in Raebareli. The district magistrate said that the ash-pipe exploded due to pressure in the boiler room.

Following the incident, Chief Minister Yogi Adityanath announced an ex-gratia amount of Rs 2 lakh for the deceased and  Rs 50,000 for those who were severely injured in the boiler blast. The UP government also announced Rs. 25,000 for people with minor injuries.

A team of 32 NDRF personnel have been deployed from Lucknow to assist in the rescue work, reports claimed.

According to initial reports, there were at least 150 workers in the area when the mishap took place. The blast occurred in the sixth unit of the NTPC plant.

All injured persons were taken to the district hospital, initial reports claimed. According to National Disaster Management Authority India, all injured persons have been shifted to various hospitals after getting first-aid at Jeevan Jyoti Hospital.

इस एक्ट्रेस की वजह से बना अनिल कपूर का बॉलीवुड करियर

अभिनेता अनिल कपूर का कहना है कि अगर पद्मिनी कोल्हापुरे फिल्म ‘वो सात दिन’ में उनके साथ काम के लिए राजी नहीं हुई होतीं तो वह आज जो कुछ हैं, नहीं होते. अनिल ने पद्मिनी के जन्मदिन के मौके पर बुधवार को वर्ष 1983 की फिल्म ‘वो सात दिन’ से एक तस्वीर जारी करते हुए लिखा, “पद्मिनी कोल्हापुरे को जन्मदिन की बधाई. मैं आज जो कुछ हूं, पद्मिनी कोल्हापुरे की वजह से हूं, क्योंकि वह ‘वो सात दिन’ के लिए राजी हुईं.”

बापू द्वारा निर्देशित ‘वो सात दिन’ डॉ. आनंद के इर्द-गिर्द घूमती है, जिन्हें पता चलता है कि उनकी नवविवाहित दुल्हन माया किसी और को प्यार करती है. वह हतोत्साहित होकर भी, किसी भी कीमत पर दोनों प्रेमियों को मिलाने का निश्चय करते हैं और उस व्यक्ति की तलाश में जुट जाते हैं.

वर्तमान में अनिल अभिनेत्री ऐश्वर्य राय बच्चन के साथ आगामी फिल्म ‘फन्ने खां’ में काम कर रहे हैं.

संगीतमय कॉमेडी फिल्म का निर्देशन अतुल मांजरेकर ने किया है.

राकेश ओमप्रकाश मेहरा, क्रीअर्ज एंटरटेनमेंट और टी-सीरीज द्वारा निर्मित ‘फन्ने खां’ ऑस्कर-नामांकित वर्ष 2000 की डच फिल्म ‘एवरीबडीज फेमस’ का आधिकारिक रीमेक है.

यह 13 अप्रैल, 2018 को दुनिया भर में रिलीज होगी.

Delhi: Sisters Kajal, Himani Bansal Fight Mobile Phone Thief, Get Him Arrested

New Delhi, Nov 1: Kajal Bansal and Himani Bansal, sisters from Delhi bravely fought a thief who snatched one of their mobile phones and tried to run and handed him over to the police. The incident happened in the Chandni Chowk area of Delhi where the two girls had gone for shopping.

Narrating the incident, Kajal, the younger sister, told Zee News that they were in an autorickshaw when a man standing beside the vehicle snatched her mobile phone and tried to run. “Our auto slowed down as there was a traffic signal and that is when a man standing next to our auto snatched my phone and tried to run,” she said.

Kajal said that while she went blank, her elder sister Himani asked her to run and chase the man. She said she and Himani both got off the auto and followed the man. “When we reached close to him we pushed him following which he fell down,” Kajal said.

She said that she snatched her mobile phone back and shouted to make sure the policemen in the area could hear. “When we shouted, the policemen in the area heard and came to the spot. We handed him over to the police,” Kajal said.

Kajal added that it was only because of her sister’s motivation at the spot that she gathered the courage to follow the thief.

मुंबई के अस्पताल में प्रेग्नेंट’ बच्चे का जन्म, पेट में पल रहा था उसका ही जुड़वां भाई

नई दिल्ली। आपने ऐसे किसी नवजात बच्चे के बारे में नहीं सुना होगा जो ‘प्रेग्नेंट’ हो. लेकिन ऐसा अजीबोगरीब मामला सामने आया है. मुंबई के मुंब्रा में 19 वर्षीय महिला ने एक ऐसे बच्चे को जन्म दिया, जिसके पेट में उसका जुड़वां भाई था. इस बात का पता तब चला जब बच्चे का रूटीन स्कैन चल रहा था. स्कैन के दौरान पाया गया कि उस बच्चे के पेट में एक भ्रूण पल रहा था यानी वह बच्चा प्रेग्नेंट था.

बच्चे के पेट में पल रहा भ्रूण पूरी तरह विकसित नहीं था. उसके हाथ, दिमाग और पैर तैयार हो चुके थे लेकिन स्कल बोन नहीं था. डॉक्टरों ने ऑपरेशन कर नवजात बच्चे के पेट से 7 सेंटीमीटर लंबा मांस का वह टुकड़ा निकाल दिया.

डॉक्टरों ने बताया कि नवजात बच्चे के पेट में पल रहा भ्रूण उसका जुड़वां भाई ही था. इस विचित्र जन्मजात अनियमितता को ‘फीटस इन फीटो’ (भ्रूण के भीतर भ्रूण) कहा जाता है.

विश्व में ऐसे 200 मामले सामने आ चुके हैं. एक्सपर्ट्स ने बताया कि यह मामला मोनोजाइगोटिक ट्विन प्रेग्नेंसी का है जिसमें दो भ्रूण एक ही गर्भनाल से जुड़े होते हैं. ऐसे मामलों में एक भ्रूण दूसरे को पूरी तरह कवर कर लेता है. इस वजह से मां के जरिए मिलने वाला पोषण दूसरे भ्रूण तक नहीं पहुंच पाता जिससे उसका विकास बाधित होता है.

इंदिरा गांधी के संग फैमिली फोटो शेयर करना प्रियंका चोपड़ा को पड़ा भारी, लोगों ने किये भद्दे कमेंट्स

मंगलवार को प्रियंका चोपड़ा ने सोशल मीडिया पर एक ऐसी तस्वीर शेयर की जिसके कारण लोग उन्हें जमकर ट्रोल करने लगे. दरअसल मंगलवार को भारत की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की 33वीं पुण्यतिथि थी. इस मौके पर प्रियंका ने अपनी फैमिली के साथ एक फोटो शेयर किया, इस तस्वीर में प्रियंका की मां, मौसी और दादा-दादी इंदिरा गांधी के साथ दिखाई दे रहे हैं. प्रियंका के इस पोस्ट के बाद ढेरों कमेंट्स आने शुरू हो गए ज्यादतर यूजर्स प्रियंका को आड़े हाथ लेते दिखाई दिए.

प्रियंका ने अपनी पोस्ट में लिखा, ‘मेरी मौसी नीला अखौरी, मेरी मां और दादा-दादी जी भारत की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के साथ.

प्रियंका की तस्वीर को देखने के बाद कुछ लोगों ने इंदिरा गांधी को ‘सामूहिक हत्या’ का जिम्मेदार बताया. एक यूजर ने लिखा, ‘मैं आपको अनफॉलो कर रहा हूं क्योंकि आपने उस शख्सियत को शेयर किया, जिससे मैं नफरत करता हूं.’

एक और यूजर ने लिखा, ‘ इंदिरा गांधी कैसी भी रही हों लेकिन वह हजारों लोगों के कत्ल की जिम्मेदार हैं. तो कोई प्रियंका को अपने काम पर ध्यान देने की सलाह देता दिखाई दिया.

प्रियंका इस समय अमेरिकी टीवी सीरियल की तीसरी सीरीज क्वांटिको में बिजी हैं. मंगलवार को अमेरिका के मैनहैटन इलाके में हुआ आतंकी हमला प्रियंका के घर के काफी करीब हुआ. इस घटना बाद प्रियंका ने ट्विटर पर सबको जानकारी भी दी थी.

Supreme Court Seeks Special Courts For Politicians Facing Charges, Details of 1,581 Cases Against MPs, MLAs

New Delhi, Nov 1: The Supreme Court on Wednesday asked the Central government to constitute special courts on lines of fast-track courts for expeditious disposal of cases pending against MPs and MLAs. The bench of Justice Ranjan Gogoi and Justice Navin Sinha gave the the government six weeks’ time to place before it the scheme for setting up of such courts for trial against lawmakers.

The apex court also asked the Centre to apprise it about finances involved for setting up special courts for cases against MPs and MLAs. The top court also sought the status of the trial in 1,581 cases involving politicians since 2014, and how many fresh cases have been filed against politicians and lawmakers in three years since 2014 as it fixed December 13 as the next date of hearing.

During the hearing, the Centre told the bench that decriminalisation of politics has to be done and it was not averse to the setting up of special courts to deal with cases involving politicians and speedy disposal of these matters. It also informed the bench that the recommendations of the Election Commission of India and the Law Commission favouring lifetime disqualification of politicians convicted in criminal cases was under the active consideration of the government.

The Election Commission of India sought a life ban on convicted MPs and MLAs from contesting elections. The ECI told the Supreme Court that it is in favour of barring convicted MLAs, MPs for life. Under the current law, a legislator is debarred for six years from contesting elections once he is convicted for heinous or moral offences.

Bharatiya Janata Party (BJP) leader Ashwani Upadhyay had filed a PIL seeking a lifetime ban on MPs, MLAs from contesting elections. Earlier in July, the Supreme Court slammed the ECI for not taking a clear stand on a plea seeking to bar of convicted politicians for life.