Daily Archive: September 1, 2017

दिल्‍ली-एनसीआर में हुई झमाझम बारिश के चलत े कई इलाकों में हुआ जलभराव

दिल्‍ली-एनसीआर में हुई झमाझम बारिश के चलते कई इलाकों में भारी जलभराव हो गया है, वहीं बारिश अब भी जारी है। ऐसे में कई जगहों पर जाम लगने की भी खबर है। भारी बारिश के चलते दिल्ली के साथ-साथ एनसीआर के ज्यादातर इलाकों और सड़कों पर पानी लगने के कारण भारी ट्रैफिक जाम हो गया है। इस भीषण ट्रैफिक जाम के चलते सड़कों पर वाहनों की लंबी कतार लग गई। इसके चलते पैदल यात्रियों को भी खासी दिक्कत पेश आ रही है।

वहीं, दूसरी ओर दिल्ली-एनसीआर के कई इलाकों में बारिश से मौसम सुहाना हो गया है। मौसम विभाग का कहना है कि अगले दो दिनों तक लगातार बारिश होगी। इस दौरान अधिकतम तापमान में और कमी आएगी।

ईद-उल-अजहा (बकरीद) त्योहार की तैयारियां हुई शुरू , बाज़ारों में बढ़ी रौनक

कुर्बानी का प्रतीक ईद-उल-अजहा (बकरीद) त्योहार की तैयारियां शुरू हो गई हैं। दिल्ली-एनसीआर में बकरे की खरीद बढ़ गई है। 10 हजार से 60 हजार तक के बकरे बाजार में मौजूद हैं। जो बकरा दिखने में जितना बेहतरीन है उसकी कीमत उतनी ही अधिक है। इनमें तोतापरी के दाम सबसे अधिक हैं।

ईद-उल-अजहा का त्योहार दुनिया भर में मुसलमान कुर्बानी के तौर पर मनाते हैं। सुबह साढ़े आठ बजे नमाज अता करेंगे। इससे पहले सुबह सात बजे से बयान शुरू होगा। नमाज के बाद मुबारक होगी।

इस दौरान आपसी भाइचारे और सौहार्द का पैगाम आवाम को दिया जाएगा। साथ ही कुर्बानी के इस पर्व पर सभी को मुल्क को किसी भी तरह के खतरे से बचाने के लिए कुर्बानी देने का फरमान दिया जाएगा। मस्जिद के पास मार्केट सज गया है। खाने पीने के साथ, कपड़े आदि की दुकानों पर भीड़ जुटने लगी है। वहीं बकरों की खरीदारी भी जोरों से चल रही है।

पूर्वी दिल्ली के गाजीपुर डंपिंग यार्ड का एक हिस्सा कोंडली नहर में गिरा, कई बाइक और स्कू टी सवार महिला नहर में डूब गए, फायर की 6 गाड़ी मौक े पर पूर्वी दिल्ली के गाजीपुर डंपिंग यार्ड के कूड़ा घर का एक हिस्सा कोसिस नहर में

पूर्वी दिल्ली के गाजीपुर डंपिंग यार्ड का एक हिस्सा कोंडली नहर में गिरा, कई बाइक और स्कूटी सवार महिला नहर में डूब गए, फायर की 6 गाड़ी मौके पर पूर्वी दिल्ली के गाजीपुर डंपिंग यार्ड के कूड़ा घर का एक हिस्सा कोसिस नहर में गिर गया, बताया जरा है हादसा इतना भयानक था नहर के रास्ते जाने वाले बाइक कार और जेसीबी मशीन के साथ कई महिला और लोग भी इस नहर में डूब गए । पुलिस बचाव कार्य मे जुटी है।

Congress leader HARISH RAWAT admitted in Gangaram Hospital New Delhi

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत दिल्ली के गंगाराम अस्पताल में भर्ती किये गये. इससे पहले वे दो दिनों से देहरदून के सी एम आई में भर्ती थे. हरिश रावतके पैर में खून के थक्के ज़म गये और उनका ब्ल्ड प्रेशर भी गढबढ़ा गया था. हरिश रावतकी उम्र 70 वर्ष है और बीमारी की वजह से उनकी शारीरिक स्थिती कमज़ोर हो गयी है. उत्तराखंड की राजनीती के अवल्ल खिलाड़ी और एक बहुचरचित अनुभवी नेता हरिश रावत केन्द्र में मनमोहन सिंह सरकार में दो मरतबा राज्य मंत्री रहे और उतराखण्ड सरकार के तीन वर्ष तक सशक्त मुख्यमंत्री. उन्होंने अपनी ही पार्टी के मुख्यमंत्री विजय बहुगुना को रिपलेस कर मुख्यमंत्री पद हासिल किया जिसके चलते देढ़ वर्ष विजय बहुगुना सहित 9 विधायकों ने हरिश रावत के खिलाफ बगावत की और भारतीय जनता पार्टी का दामन थामा. इसी बीच हरिश रावत के खिलाफ विधायकों की खरीद फरोक्त को लेकर सीबीआयी ने मामला दर्ज किया ज़िसे हरिश रावत ने भाजपा पर उनके विरुध राजनयेतिक शढ़यन्त्र रचने का आरोप लगाया. पिछले चुनाव में वे दोनो विधान सभा क्षेत्रों से चुनाव हार गये और उनकी पार्टी भी. राज्य में भाजपा ने ऐतिहासिक बहुमत हासिल कर सरकार बनाई. राजन्यतिक पराजय के बाद भी रावत राज्य की राजनीती में सकरिय रहे. देहरादून सीएमआयी में उनकी तबियत और खराब हो गयी और मिलने वालों की भीड़ के चलते उन्हे दिल्ली के गंगाराम अस्पताल में शिफट् किया गया.

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत दिल्ली के गंगाराम अस्पताल में भर्ती

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत दिल्ली के गंगाराम अस्पताल में भर्ती किये गये. इससे पहले वे दो दिनों से देहरदून के सी एम आई में भर्ती थे. हरिश रावतके पैर में खून के थक्के ज़म गये और उनका ब्ल्ड प्रेशर भी गढबढ़ा गया था. हरिश रावतकी उम्र 70 वर्ष है और बीमारी की वजह से उनकी शारीरिक स्थिती कमज़ोर हो गयी है. उत्तराखंड की राजनीती के अवल्ल खिलाड़ी और एक बहुचरचित अनुभवी नेता हरिश रावत केन्द्र में मनमोहन सिंह सरकार में दो मरतबा राज्य मंत्री रहे और उतराखण्ड सरकार के तीन वर्ष तक सशक्त मुख्यमंत्री. उन्होंने अपनी ही पार्टी के मुख्यमंत्री विजय बहुगुना को रिपलेस कर मुख्यमंत्री पद हासिल किया जिसके चलते देढ़ वर्ष विजय बहुगुना सहित 9 विधायकों ने हरिश रावत के खिलाफ बगावत की और भारतीय जनता पार्टी का दामन थामा. इसी बीच हरिश रावत के खिलाफ विधायकों की खरीद फरोक्त को लेकर सीबीआयी ने मामला दर्ज किया ज़िसे हरिश रावत ने भाजपा पर उनके विरुध राजनयेतिक शढ़यन्त्र रचने का आरोप लगाया. पिछले चुनाव में वे दोनो विधान सभा क्षेत्रों से चुनाव हार गये और उनकी पार्टी भी. राज्य में भाजपा ने ऐतिहासिक बहुमत हासिल कर सरकार बनाई. राजन्यतिक पराजय के बाद भी रावत राज्य की राजनीती में सकरिय रहे. देहरादून सीएमआयी में उनकी तबियत और खराब हो गयी और मिलने वालों की भीड़ के चलते उन्हे दिल्ली के गंगाराम अस्पताल में शिफट् किया गया.

राजधानी ट्रेन में टिकट के साथ कैटरिंग शुल ्क की अनिवार्यता खत्म।

नई दिल्ली : रेलवे बोर्ड के निर्देश पर पूर्व मध्य रेल प्रशासन ने राजेंद्र नगर-दिल्ली-राजेंद्र नगर राजधानी एक्सप्रेस की पेंट्रीकार को आइआरसीटीसी के हवाले कर दिया है। अब राजधानी एक्सप्रेस के यात्रियों को टिकट के साथ खान-पान शुल्क देना अनिवार्य नहीं होगा। काउंटर या फिर ऑनलाइन टिकट बुक कराते समय मील का ऑप्शन दिया गया है, जिसमें हां या नहीं लिखना होगा। अगर यात्री ऑप्शन में नहीं लिखते हैं, तो बेस किराया के साथ-साथ फ्लैक्सी में बढ़ी दर ही देने होंगे।पिछले 15 दिनों से प्रयोग के तौर पर आइआरसीटीसी के माध्यम से राजधानी एक्सप्रेस में खाना परोस जा रहा था, लेकिन आज से पूर्णत: आइआरसीटीसी को पेंट्रीकार दे दी गयी है। गौरतलब है कि ट्रेनों में परोसे जाने वाले खान-पान को लेकर लगातार शिकायतें मिल रही थीं। साथ ही कैग की रिपोर्ट आने के बाद रेलवे बोर्ड ने खान-पान की नयी व्यवस्था शुरू की है।

राजेंद्र नगर टर्मिनल से राजधानी एक्सप्रेस शाम सात बजे दिल्ली के लिए रवाना होती है। इसलिए दिल्ली जाने वाली राजधानी एक्सप्रेस में सिर्फ खाना परोसा जाता है। वहीं, दिल्ली से पटना आने वाली राजधानी एक्सप्रेस शाम पांच बजे रवाना होती है, इसलिए पटना आने वाली राजधानी में चाय व स्नैक्स के साथ-साथ खाना भी परोसा जाता है। इससे पटना से दिल्ली जाने वाली और दिल्ली से पटना आने वाली राजधानी एक्सप्रेस के बेस किराया में अंतर नहीं किया गया है, लेकिन खान-पान शुल्क अलग-अलग निर्धारित किया गया है। राजधानी एक्सप्रेस के यात्रियों को खाने का ऑप्शन नहीं था। यात्रा के दौरान खाने का मन नहीं है, फिर भी शुल्क देना अनिवार्य था। इससे यात्री शुल्क देने के साथ-साथ पेंट्रीकार का खाना खाने को मजबूर होते थे। नयी व्यवस्था लागू होने के बाद राजधानी एक्सप्रेस के यात्री सफर के दौरान घर का खाना या फिर मनपसंद खाना खा सकेंगे।

पटना से दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस

श्रेणी बेस किराया खाना के साथ किराया

फर्स्ट क्लास 3615 रुपये 3685 रुपये

सेकेंड क्लास 2125 रुपये 2270 रुपये

थर्ड क्लास 1490 रुपये 1635 रुपये

दिल्ली से पटना राजधानी एक्सप्रेस

श्रेणी बेस किराया खाना के साथ किराया

फर्स्ट क्लास 3615 रुपये 3820 रुपये

सेकेंड क्लास 2125 रुपये 2310 रुपये

थर्ड क्लास 1490 रुपये 1675 रुपये

आइआरसीटीसी को राजधानी एक्सप्रेस की पेंट्रीकार दे दी गयी है। साथ ही बेस किराया भी तय कर दिया गया है। टिकट के साथ कैटरिंग शुल्क की अनिवार्यता खत्म कर दी गयी है। अब राजधानी एक्सप्रेस के यात्री टिकट बुक कराते समय खाने का ऑप्शन चुन सकते हैं।