Daily Archive: August 12, 2017

Bihar Board Class 12 Compartment Result 2017 Declared

Patna, Aug 12: The Bihar School Examination Board (BSEB) today declared the results of class 12 arts, science, commerce and vocational compartmental examination results 2017 at bihar.indiaresults.com. Unlike other boards, BSEB doesn’t declare the result on its official website. The results are declared on a third party website indiaresults.com. Students who had appeared for the class 12 compartmental exams can check their results. Other details of the compartmental result 2017 can be checked at biharboard.ac.in.

Here’s how you check the BSEB class 12 compartmental examination results:

Step 1: Go to bihar.indiaresults.com

Step 2: Click on ‘Intermediate Examination (Arts/ Science/ Commerce) Compartmental Result 2017‘ to check your results.

Step 3: You will be directed to a new window.

Step 4: Enter your 5 digit Roll Code, 8 digit Roll Number or Name.

Step 5: Click on ‘Find Result’

A total of 1,30,474 students, who failed in the annual BSEB result 2017, had registered to appear for the BSEB class 12 compartment exam. Over all pass percentage has been recorded at 71.36 per cent. According to the reports, 93,295 out of 1,30,474 students have passed the class 12 compartment exams. For the Arts stream, the pass percentage has been recorded at 72.75 per cent, 69.29 per cent for Commerce and 70.3 per cent for Science stream.

UPSC Civil Services Mains Exam For 2017 Schedule Released

New Delhi, August 12: The Union Public Services Commission Mains 2017 exam dates have been released by the government on its official website – upsc.gov.in. The UPSC Civil Services Mains examination will start from October 28th, 2017 and will end by November 3rd 2017.

The candidates who had successfully cleared the preliminary exams need to fill the Detailed Application Form (DAF) for the Mains Exam, which will be available on the official website of UPSC on 17th August 2017.

According to the UPSC Mains 2017 examination schedule, the first paper of essay will be conducted on October 28th, 2017. The general studies papers will be conducted on 30th and 31st October 2017 in four shifts.

The UPSC has scheduled the Language papers on November 1st, 2017 with Indian Language paper to be conducted in the morning shift where candidates can select 22 Indian languages for which they have prepared. The 22 languages include Assamese, Bengali, Bodo, Dogri, Gujarati, Hindi, Kannada, Kashmiri, Konkani, Maithili, Malayalam, Manipuri, Marathi, Nepali, Oriya, Punjabi, Sanskrit, Santhali, Sindhi (Devanagari/Arabic Script), Tamil, Telugu, and Urdu. The English Language paper will be held in the afternoon session.

Also, the optional papers under the UPSC Mains 2017 are scheduled for November 3rd, 2017.

On October 29th and November 2nd, there would be no exams, an official notice of the UPSC said.

According to the UPSC official site, all the exams will be conducted for 3 hours duration in the morning session and afternoon sessions viz:

1. Morning Session: 9 am to 12 noon.
2. Afternoon Session: 2 pm to 5 pm.

Also, candidates who are appearing for the UPSC Mains 2017 can check the complete schedule at http://www.upsc.gov.in/sites/default/files/CSM_2017_TimeTable_Engl.pdf

केंद्र सरकार ने उत्तर प्रदेश में बच्चों की मौतों पर रिपोर्ट मांगी

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने शनिवार को उत्तर प्रदेश सरकार से गोरखपुर के एक अस्तपाल में पिछले पांच दिनों में 60 से अधिक बच्चों की मौतों को लेकर विस्तृत रिपोर्ट मांगी है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के एक अधिकारी ने नाम न जाहिर करने की शर्त पर बताया कि राज्य मंत्री अनुप्रिया पटेल और स्वास्थ्य सचिव सी. के. मिश्रा से गोरखपुर जाने और बाबा राघव दास मेडिकल कॉलेज में खामियों का पता लगाने के लिए कहा गया है, जहां बच्चे भर्ती थे.

इस बीच, उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार ने बी.आर.डी. मेडिकल कॉलेज अस्पताल प्रमुख को लापरवाही के आरोप में निलंबित कर दिया है. स्वास्थ्य सचिव मिश्रा गोरखपुर पहुंच गए हैं, जबकि अनुप्रिया जल्द ही वहां पहुंचने वाली हैं. अधिकारी ने बताया कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने दिल्ली से अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स), सफदरजंग अस्पताल और राम मनोहर लोहिया अस्पताल के चिकित्सकों के एक प्रतिनिधिमंडल को बीआरडी के चिकित्सकों की मदद के लिए भेजने की योजना बनाई है.

गौरतलब है कि अस्पताल में पिछले करीब पांच दिनों में 63 बच्चों की मौत एंसेफेलाइटिस और कथित तौर पर ऑक्सीजन की आपूर्ति बंद होने के कारण हो गई. इनमें से 30 मौतें 48 घंटे के भीतर हुईं.

बीआरडी मेडिकल कॉलेज को उप्र सरकार द्वारा एंसेफेलाइटिस से निपटने के लिए अनुदान के रूप में काफी बड़ी राशि दी जा रही थी. हालांकि अस्पताल में भर्ती मरीजों के परिवार के सदस्यों ने आरोप लगाया है कि बड़ी मात्रा में सरकारी अनुदान मिलने के बावजूद यहां न तो चिकित्सक हैं और न ही उपचार की उचित व्यवस्था, उचित दवाइयां या ऑक्सीजन की आपूर्ति रही.

इससे पहले शनिवार को मुख्यमंत्री योगी ने अपनी सरकार के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह और चिकित्सा शिक्षा मंत्री आशुतोष टंडन को इस हिदायत के साथ गोरखपुर भेजा कि ‘त्रासदी के लिए जिम्मेदार किसी को भी छोड़ा न जाए’. इस मामले में विपक्ष की कड़ी आलोचना झेल रहे योगी के कार्यालय ने शनिवार दोपहर स्वास्थ्य मंत्री सिंह के हवाले से ट्वीट कर बताया कि चिकित्सा विज्ञान संस्थान के प्रिंसिपल को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है.

शरद यादव चाहें तो जेडीयू छोड़ सकते हैं: राम विलास पासवान

नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री एवं लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) के अध्यक्ष राम विलास पासवान ने शनिवार को कहा कि शरद यादव चाहें तो जनता दल (युनाइटेड) छोड़कर जा सकते हैं. पासवान ने यहां मीडिया से बातचीत में कहा कि वास्तव में मैं इस मुद्दे पर कोई टिप्पणी नहीं करना चाहता, लेकिन ऐसी संभावनाएं हैं कि वह अपनी अलग पार्टी गठित कर सकते हैं. उन्हें जेडीयू की ओर से बोल दिया गया है कि वह स्वतंत्र हैं और वह पार्टी छोड़कर जा सकते हैं. अगर वह चाहते ही हैं, तो पार्टी छोड़ क्यों नहीं देते.

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) और कांग्रेस के साथ महागठबंधन तोड़कर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के साथ हाथ मिलाने के साथ ही नीतीश और पूर्व पार्टी अध्यक्ष शरद यादव के बीच मतभेद पैदा हो गए हैं.

शरद यादव ने दावा किया है कि असली जेडीयू का समर्थन उनके साथ है. इस पर पासवान ने कहा कि राजनीति में किसी व्यक्ति की ताकत अहम होती है और जेडीयू के मौजूदा अध्यक्ष नीतीश कुमार आज उतने ही प्रभावशाली नेता हैं. राजनीति में इसका कोई महत्व नहीं है कि पार्टी आपने बनाई है या नहीं बनाई है. सबसे अहम बात यह है कि किसी व्यक्ति ने वह ताकत अर्जित की है या नहीं. शरद यादव को यह स्वीकार कर लेना चाहिए कि नीतीश के पास अब वह ताकत है और उनके पास नहीं.

नीतीश कुमार के जेडीयू को सरकारी पार्टी कहे जाने पर पासवान ने कहा कि जब शरद यादव राजग सरकार में मंत्री थे, तब यह सरकारी पार्टी नहीं थी, बल्कि एक क्रांतिकारी पार्टी थी. अब वह सरकार में नहीं हैं तो पार्टी सरकारी पार्टी हो गई है.

पासवान ने एनडीए गठबंधन में नीतीश कुमार के शामिल होने की सराहना की. उन्होंने कहा कि कुछ भी हो वह एनडीए का हिस्सा बन चुके हैं. सिर्फ कुछ तकनीकी औपचारिकताएं शेष हैं. उन्हें एनडीए में शामिल होने दीजिए, हम मिलकर काम करेंगे.

Sakshi Maharaj’s reaction on deaths of children due to ‘oxygen supply cut’ at Gorakhpur hospital

Unnao (UP): BJP MP Sakshi Maharaj today said 30 infants died in a Gorakhpur hospital because oxygen supply was cut off over non-payment of dues.

He demanded stringent action against those responsible for the tragedy in Baba Raghav Das Medical College Hospital, where 30 children are believed to have died in 48 hours.

“The deaths which took place in a Gorakhpur hospital were very saddening. The person, who switched off the oxygen supply on the pretext of non-payment of dues, was responsible for the incident,” the MP from Unnao told reporters.

Denying media reports that he had termed the incident as a “massacre” (narsanhar), Sakshi Maharaj said, “I have never said so. I said the deaths were not natural and steps should be taken to ensure that such incidents are not repeated in the future.