Daily Archive: August 9, 2017

#Sensex slips below 32,000-mark on weak global cues

Mumbai, Aug 9 The benchmark BSE Sensex dipped below the 32,000-mark by plunging over 158 points in early trade on Wednesday due to sustained selling pressure from investors amid weak global cues.

Falling for the third straight session, the 30-share index dropped by 158.30 points, or 0.49 per cent, to 31,855.89 with sectoral indices, led by realty, healthcare, capital goods, FMCG and bank, were trading in the negative terrain with losses up to 2 per cent.

The gauge had lost 311.22 points in the previous two sessions.

The 50-share NSE Nifty also dropped by 44.95 points, or 0.45 per cent, to 9,933.60 in early trade Wednesday.

Brokers said continued selling by participants on muted earnings by some corporates and a weak trend in other Asian markets following weak Wall Street numbers on worries over tensions between the US and North Korea dampened sentiment.

Major losers were Sun Pharma, ICICI Bank, Dr Reddy’s, Axis Bank, ITC Ltd, Hindustan Unilever, Cipla, HDFC Bank, Bharti Airtel, Lupin and L&T, falling up to 2.73 per cent.

Dilip Kumar Health Improves,Veteran Actor To Be Shifted Out Of ICU Today

Dilip Kumar has been hospitalized in Lilavati Hospital citing severe dehydration and kidney problems. However, the actor is now out of critical condition will be soon being shifted out of the ICU. Ajay Kumar Pande, Vice President, Lilavati Hospital told IANS earlier, “He is stable, he has no fever, no breathlessness, he is conscious, he has eaten certain food prescribed by the doctors, his creatinine level is lower and his urine output is better, which is a good sign. “There were a plethora o doctors who were treating the veteran actor including Dr Jalil Parkar and cardiologist Dr Nitin Gokhale. For some days there were reports extreme health deterioration of Dilip Kumar’s health.

गांधी ने कहा था- करेंगे या मरेंगे, आज का नारा- करेंगे और करके रहेंगेः मोदी

नई दिल्ली. ‘भारत छोड़ो आंदोलन’ के 75 वर्ष पूरे होने पर गुरुवार को संसद में विशेष सत्र हुआ. संसद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपना संबोधन दिया. पीएम ने गांधी के आदर्शों को याद करते हुए जनता से अपील की कि भारत छोड़ो आंदोलन की 75वीं वर्षगांठ पर वे सांप्रदायिकता, जातिवाद, भ्रष्टाचार से देश को मुक्त कराने का संकल्प लें. पीएम ने कहा कि युवाओं के लिए जरूरी है कि वह भारत छोड़ो आंदोलन जैसे ऐतिहासिक क्षणों के बारे में जानें.

यह भारत के लिए गौरवान्वित दिन है. इस बात के साथ मोदी ने संबोधन की शुरुआत की. उन्होंने कहा कि ये खास पल है. हम भारत छोड़ो आंदोलन को याद कर रहे हैं. ऐसे पलों को याद करने से हमें एक मजबूती मिलती है. मोदी ने कहा कि भारत छोड़ो आंदोलन ने देश में नए नेतृत्व का उदय किया. सभी ने आंदोलन के दौरान महात्मा गांधी का समर्थन किया. हमारी आजादी सिर्फ भारत के लिए नहीं थी, बल्कि यह विश्व के दूसरे हिस्सों में उपनिवेशवाद के खात्मे में एक निर्णायक क्षण था.

प्रधानमंत्री ने सदन में कहा कि अंग्रेजों ने भी ऐसे आंदोलन की कल्पना नहीं की थी. 1942 में अभी नहीं तो कभी नहीं का माहौल था. आज हमारे पास गांधी का नेतृत्व नहीं लेकिन सवा सौ करोड़ लोगों के विश्वास के साथ यहां पहुंचे लोगों के लिए कुछ भी असंभव नहीं. उन्होंने कहा कि भारत छोड़ो आंदोलन के समय बापू बोले थे- ‘पूर्णं स्वतंत्रता से कम मंजूर नहीं’. उन्होंने कहा था कि ‘करेंगे या मरेंगे’ और आज वही नारा ‘करेंगे आर करके रहेंगे’ के रूप में है. महात्‍मा गांधी ने आजादी के आंदोलन को ऊंचाई पर ले जाने का प्रयास किया. इतिहास की याद जीवन को नई ताकत देता है.

मोदी ने कहा कि गरीबी, अशिक्षा, कुपोषण हमारे देश के सामने बड़ी चुनौतियां हैं, हमें सकारात्मक बदलाव लाने की आवश्यकता है, भ्रष्टाचार हमारी राजनीति को अंदर से खोखला कर रहा है, हम गरीबी, अशिक्षा, कुपोषण, भ्रष्टटाचार से देश को मुक्त बनाने का संकल्प लें. प्रधानमंत्री ने लोकसभा में कहा 2017 से 2022 तक पांच वर्ष की अवधि में हम उसी भावना और संकल्प के साथ काम करें जो भाव 1942 से 1947 के बीच पांच वर्ष की अवधि के दौरान था. मोदी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 1942 के ‘करो या मरो’ के नारे की तर्ज पर ‘करेंगे और करके रहेंगे’ का संकल्प लेने का आह्वान किया.

Global #Crudeoil price of Indian Basket was US$ 51.60 per bbl on 08.08.2017

The international crude oil price of Indian Basket as computed/published today by Petroleum Planning and Analysis Cell (PPAC) under the Ministry of Petroleum and Natural Gas was US$ 51.60 per barrel (bbl) on 08.08.2017. This was higher than the price of US$ 51.04 per bbl on previous publishing day of 07.08.2017.

In rupee terms, the price of Indian Basket increased to Rs. 3288.77 per bbl on 08.08.2017 as compared to Rs. 3253.35 per bbl on 07.08.2017. Rupee closed unchanged at Rs. 63.74 per US$ on 08.08.2017 as compared to 07.08.2017. The table below gives details in this regard:

Particulars Unit Price on August 08, 2017 Previous trading day i.e. (07.08.2017)
Crude Oil (Indian Basket) ($/bbl) 51.60               (51.04)
(Rs/bbl) 3288.77           (3253.35)
Exchange Rate (Rs/$) 63.74               (63.74)

 

 

भाजपा के रणनीतिकार पर भारी पड़े कांग्रेस के अहमद पटेल, आकड़ो के खेल में हारी बीजेपी

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के राजनीतिक सलाहकार अहमद पटेल भाजपा के चाणक्य कहे जाने वाले पार्टी अध्यक्ष अमित शाह पर भारी पडे हैं। दोनों दलों के लिए प्रतिष्ठा का सवाल बन चूके गुजरात के हाई प्रोफाईल राज्यसभा की तीसरी सीट की बाजी कांग्रेस के हाथ लगी है। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की तमाम रणनीतियों को मात देते हुए अहमद पटेल दोबारा से राज्यसभा की अपनी सीट बचाने में कामयाब रहे हैं। पटेल की जीत के साथ ही बीते दस दिनों से जारी गुजरात के राज्यसभा चुनाव को लेकर जारी सियासी ड्रामें का अंत हुआ है। इस ड्रामें के बाद पटेल जहां एकबार दोबारा से कांग्रेस के सबसे ताकतवर नेता के रूप में उभरे हैं। तो भाजपा अध्यक्ष अमित शाह राज्यसभा का चुनाव जीत कर भी नैतिक बाजी हार गए हैं। लंबे अरसे बाद उनकी रणनीति को झटका लगा है।

कांग्रेस—भाजपा के लिए नाक का सवाल बन चूकी गुजरात की हाई प्रोफाईल तीसरी सीट के लिए दोनों ही दलों की ओर से हर हथकंडे का इस्तेमाल वोट से पहले और बाद में भी चला। दो विधायकों के वोट को लेकर परिणाम में ऐसा पेंच फंसा की दिल्ली के चुनाव आयोग तक मामला पहुंचा। मगर अंतत: जीत कांग्रेस के हाथ लगी। कांग्रेस के दो बागी विधायकों राघव पटेल और भोला जी भाई गोहिल के वोट को आयोग ने रद्द घोषित किया। आयोग के फैसले से भी भाजपा रणनीतिकारों की कलई पूरी तरह खुलती नजर आई। भाजपा के लिए सुखद स्थिति यह है कि सूबे की तीन में से दो सीट उसके हाथ लगी है। पहली सीट पर अमित शाह पहली दफे राज्यसभा पहुंचने में कामयाब रहे हैं और तीसरी पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी चुनाव जीतकर राज्यसभा में दोबरा से पहुंचने में सफल रही हैं। तीसरी सीट के लिए पटेल का मुकाबला भाजपा के बलवंत राजपूत से था।