Daily Archive: March 14, 2017

How this woman beat all odds and became the first female Uber driver from New Delhi

Shanno Begum is New Delhi’s first female Uber driver. Having no education qualifications to back her, she was left with little to no means to survive when her husband passed away. Shanno, a mother of three, struggled in different jobs to sustain her family before working towards getting a job as a driver. She was faced with a lot of questions, the common one being about taking up a profession which has been stereotyped as being for men. However, her determination to care for her children motivated her to reach where she has today.

TN Farmers Protest With Skulls Outside Lok Sabha Speaker’s House

It was a shocking sight that awaited political leaders who reside in Lutyen’s Delhi on Tuesday morning. Dressed in loincloth and dhotis, 174 farmers from Tamil Nadu stood outside the residence of former Lok Sabha Speaker PA Sangma, while women were wearing only their petticoat. However, it was the objects in the hands of the agitators that grabbed even more attention. While some of these men and women carried begging bowls made of clay, the others carried skulls of dead farmers.

ARVIND KEJRIWAL CM DELHI : MCD ELECTIONS SHOULD BE HELD WITH BALLOT PAPERS AND NOT WITH EVM

MCD चुनाव EVM की बजाए बैलेट पेपर से हो : केजरीवाल

नई दिल्ली। दिल्ली के नगर निगम चुनाव (एमसीडी) में वोटिंग ईवीएम की बजाय बैलेट पेपर से कराए जा सकते हैं। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंंद केजरीवाल ने इस सिलसिले में चुनाव आयोग को एक पत्र भी लिखा है।
मुख्यमंत्री ने चुनाव आयोग मांग की है कि दिल्ली में एसीडी चुनाव ईवीएम की बजाय बैलेट पेपर से कराये जाएं। दरअसल आम आदमी पार्टी समेत कांग्रेस को ईवीएम यानी इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन पर संदेह है। इसलिए दोनों पार्टियों की मांग की है कि आगामी दिल्ली नगर निगम चुनाव में बैलट पेपर से चुनाव कराए जाएं।

मुख्यमंत्री के आयोग को पत्र लिखने के बाद ये कयास तेज हो गए हैं कि पंजाब में हार के बाद ईवीएम में गड़बड़ियों से आशंकित केजरीवाल की दिल्ली सरकार नगर चुनावों में ईवीएम का रिस्क नहीं लेना चाहती और बैलेट पेपर से चुनाव करा सकती है।

दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार है और निगम चुनाव कराने की ज़िम्मेदारी उसकी है लेकिन इसके लिए उपराज्यपाल की मंज़ूरी चाहिए होगी। अब यह देखना होगा कि दिल्ली सरकार के इस आदेश पर दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल क्या रुख अपनाते हैं। दिल्ली में अप्रैल के महीने में तीनों नगर निगम में चुनाव होने हैं। जिनकी तारीखों का ऐलान चुनाव आयोग आज शाम को कर सकता है।

इस सिलसिले में आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता संजय सिंह ने कहा कि ‘उत्तर-प्रदेश में भी नगर पालिका और नगर पंचायत के चुनाव बैलेट पेपर से होते हैं। दिल्ली एमसीडी (एमसीडी) के चुनाव भी बैलेट पेपर से कराए जा सकते हैं।’

संजय सिंह ने कहा कि पंजाब चुनाव जीतने वाली कांग्रेस को भी ईवीएम पर संदेह है। बसपा को भी संदेह है और दूसरी पार्टियों भी संदेह है। यही नहीं भाजपा जब तक विपक्ष में थी तब तक उसके नेता और समर्थक ईवीएम पर सवाल उठाते थे। ऐसे में बैलेट पेपर से चुनाव कराने में क्या हर्ज है?

इससे पहले दिल्ली कांग्रेस के अध्यक्ष अजय माकन ने भी अरविंद केजरीवाल से ईवीएम की बजाय बैलेट पेपर के जरिए एमसीडी चुनाव कराने की अपील की थी। कांग्रेस नेता अजय माकन ने ट्वीट कर कहा कि कई लोग ईवीएम से होने वाले चुनाव पर सवाल उठा रहे हैं।

ऐसे में अरविंद केजरीवाल से अपील है कि वे निष्पक्ष और निर्विवाद चुनाव के लिए बैलेट पेपर के जरिए चुनाव कराएं।

उल्लेखनीय है कि आम आदमी पार्टी से पहले यूपी चुनाव के नतीजों के बाद बीएसपी प्रमुख मायावती और अखिलेश यादव की ओर से ईवीएम में गड़बड़ी के आरोप लगाए गए थे। वहीं राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव भी ईवीएम पर शक जता चुके हैं।

#MCD चुनाव #EVM की बजाए बैलेट पेपर से हो : केजरीवा ल

#MCD चुनाव #EVM की बजाए बैलेट पेपर से हो : केजरीवाल

नई दिल्ली। दिल्ली के नगर निगम चुनाव (एमसीडी) में वोटिंग ईवीएम की बजाय बैलेट पेपर से कराए जा सकते हैं। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंंद केजरीवाल ने इस सिलसिले में चुनाव आयोग को एक पत्र भी लिखा है।
मुख्यमंत्री ने चुनाव आयोग मांग की है कि दिल्ली में एसीडी चुनाव ईवीएम की बजाय बैलेट पेपर से कराये जाएं। दरअसल आम आदमी पार्टी समेत कांग्रेस को ईवीएम यानी इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन पर संदेह है। इसलिए दोनों पार्टियों की मांग की है कि आगामी दिल्ली नगर निगम चुनाव में बैलट पेपर से चुनाव कराए जाएं।

मुख्यमंत्री के आयोग को पत्र लिखने के बाद ये कयास तेज हो गए हैं कि पंजाब में हार के बाद ईवीएम में गड़बड़ियों से आशंकित केजरीवाल की दिल्ली सरकार नगर चुनावों में ईवीएम का रिस्क नहीं लेना चाहती और बैलेट पेपर से चुनाव करा सकती है।

दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार है और निगम चुनाव कराने की ज़िम्मेदारी उसकी है लेकिन इसके लिए उपराज्यपाल की मंज़ूरी चाहिए होगी। अब यह देखना होगा कि दिल्ली सरकार के इस आदेश पर दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल क्या रुख अपनाते हैं। दिल्ली में अप्रैल के महीने में तीनों नगर निगम में चुनाव होने हैं। जिनकी तारीखों का ऐलान चुनाव आयोग आज शाम को कर सकता है।

इस सिलसिले में आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता संजय सिंह ने कहा कि ‘उत्तर-प्रदेश में भी नगर पालिका और नगर पंचायत के चुनाव बैलेट पेपर से होते हैं। दिल्ली एमसीडी (एमसीडी) के चुनाव भी बैलेट पेपर से कराए जा सकते हैं।’

संजय सिंह ने कहा कि पंजाब चुनाव जीतने वाली कांग्रेस को भी ईवीएम पर संदेह है। बसपा को भी संदेह है और दूसरी पार्टियों भी संदेह है। यही नहीं भाजपा जब तक विपक्ष में थी तब तक उसके नेता और समर्थक ईवीएम पर सवाल उठाते थे। ऐसे में बैलेट पेपर से चुनाव कराने में क्या हर्ज है?

इससे पहले दिल्ली कांग्रेस के अध्यक्ष अजय माकन ने भी अरविंद केजरीवाल से ईवीएम की बजाय बैलेट पेपर के जरिए एमसीडी चुनाव कराने की अपील की थी। कांग्रेस नेता अजय माकन ने ट्वीट कर कहा कि कई लोग ईवीएम से होने वाले चुनाव पर सवाल उठा रहे हैं।

ऐसे में अरविंद केजरीवाल से अपील है कि वे निष्पक्ष और निर्विवाद चुनाव के लिए बैलेट पेपर के जरिए चुनाव कराएं।

उल्लेखनीय है कि आम आदमी पार्टी से पहले यूपी चुनाव के नतीजों के बाद बीएसपी प्रमुख मायावती और अखिलेश यादव की ओर से ईवीएम में गड़बड़ी के आरोप लगाए गए थे। वहीं राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव भी ईवीएम पर शक जता चुके हैं।