Author Archive: vdc

Big setback for Arvind Kejriwal: Delhi LG Anil Baijal orders recovery of Rs 97 cr from AAP in 30 days for “misusing” exchequer money

In a setback to the Kejriwal dispensation, Lt Governor Anil Baijal has directed that Rs 97 crore be recoverd from AAP that was allegedly "splurged" by the city government on advertisements in violation of the Supreme Court guidelines. Baijal also ordered an inquiry into the spendings on advertisements projecting Chief Minister Arvind Kejriwal and his party and asked the chief secretary to fix responsibility. The AAP will have to reimburse the money within a month. The move comes months after a Centre-appointed three-member committee indicted the AAP government for "misusing" exchequer money on advertisements.

दिल्ली हाईकोर्ट ने 1984 सिख कत्लेआम के 5 केस द ोबारा खोले*

*दिल्ली हाईकोर्ट ने 1984 सिख कत्लेआम के 5 केस दोबारा खोले*

*दिल्ली कमेटी के यत्नों से दिल्ली कैंट के 32 वर्ष पुराने केसों में इन्साफ की उम्मीद जगी*

*दिल्ली पुलिस ने 25 एफ.आई.आर. के स्थान पर 1 एफ.आई.आर. दर्ज करके अपनी जिम्मेवारी से भागने की गुस्ताखी की थी : जी.के.*

नई दिल्ली (29 मार्च 2017) दिल्ली हाईकोर्ट ने 1984 सिख कत्लेआम के दौरान दिल्ली कैंट के राजनगर ईलाके में हुए 25 सिखों के कत्लेआम से संबंधित एफ.आई.आर. नम्बर 416/84 में शामिल 5 केसों को दुबारा खोलने का आज आदेश दिया है। जस्टिस गीता मित्तल एवं अनु मल्होत्रा की पीठ ने केस की सुनवाई के दौरान इस संबंधी दिल्ली पुलिस को आदेश दिया।
दरअसल नवम्बर 1984 में राजनगर में 25 सिखों के कत्ल संबंधी अलग-अलग शिकायतकर्ताओं द्वारा दिल्ली कैंट थाने में एफ.आई.आर. दर्ज करने के लिए आवेदन दिये गये थे। जिस पर दिल्ली पुलिस ने गोल-मोल कार्यवाही करते हुए एफ.आई.आर. नम्बर 416/84 में सभी शिकायतें नत्थी कर दी थी। जिसमें सिर्फ 5 शिकायतों पर निचली अदालत में दिल्ली पुलिस ने कानूनी कार्यवाही शुरू की थी। पुलिस द्वारा गवाहों के ना मिलने का हवाला देने के बाद निचली अदालत ने आरोपियों को दोष मुक्त कर दिया था।

2000 में एन.डी.ए. सरकार द्वारा बनाये गये नानावटी आयोग के पास भी दिल्ली पुलिस की इस कार्यवाही के बारे पीडितों ने अपना विरोध दर्ज करवाया था। 5 वर्ष तक चले आयोग ने 2005 में उक्त 5 केसों को फिर से खोलने का आदेश दिया था पर 12 साल के लंबे इन्तजार के बाद अब दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के कानूनी विभाग के यत्नों से दिल्ली हाईकोर्ट ने उक्त केसों को फिर से खोलने का आदेश दिया है।

इस फैसले पर खुशी जाहिर करते हुए कमेटी अध्यक्ष मनजीत सिंह जी.के. ने इन पांचों केसों से संबंधित कांग्रेसी नेता सज्जन कुमार तथा उनके साथियों को सजा दिलवाने के लिए पूरी ताकत लगाने का दावा किया। जी.के. ने कहा कि दिल्ली पुलिस ने कत्लेआम पीड़ितों को इन्साफ देने के नाम पर दिल्ली के सिखों की आंखों में जो धूल झोंकी थी यह उसकी जीवित मिसाल है। जी.के. ने हैरानी जताई कि जिंस तरीके से 25 एफ.आई.आर. की बजाये 1 एफ.आई.आर. दर्ज करके अपनी जिम्मेवारी से भागने की दिल्ली पुलिस ने जो गुस्ताखी की है उसकी मिसाल दुनिया के सबसे बड़े प्रजातंत्र भारत के अलावा कहीं नहीं मिलती।

गलत पतों पर सम्मन भेजकर गवाहों के ना मिलने का दावा दिल्ली पुलिस द्वारा करने का भी जी.के. ने आरोप लगाया। 5 केसों में दोषीयों को बरी करवाकर 25 निर्दोषों के कातिलों को बचाने संबंधी बड़ी साजिश के पीछे जी.के. ने कांग्रेस के बड़े नेताओं की कथित भागीदारी होने का भी अंदेशा जताया। जी.के. ने आशा जताई कि कमेटी के कानूनी विभाग प्रमुख जसविन्दर सिंह जौली तथा कमेटी के इस केस में वकील कामना वोहरा, गुरबख्श सिंह एवं लख्मीचंद पूरी ताकत के साथ कातिलों को सजा दिलवाने की अपनी जिम्मेदारी निभायेंगे।

Tata Motors launches -Tigor, a styleback car

India’s first ‘StyleBack-Tata Rigor with its stunning, break-free and revolutionary design is set to build on the Tata Motors existing passenger vehicle portfolio. Denoting the impact design language, best-in class driving features and an advanced ConnectNext infotainment system in the car, the car is a clear and exciting harbinger of future vehicles from Tata Motors, set to disrupt the passenger car market in India.

‘Depressed’ IIT-Delhi student attempts suicide

He jumped from the fourth floor of Vindyachal hostel and has suffered fracture in his legs, an officer said.

New Delhi : A 19-year-old student of Indian Institute of Technology-Delhi (IIT-Delhi), who was in depression as he didn’t want to study engineering, allegedly attempted suicide this morning by jumping off the terrace of a hostel building.

MCD Elections 2017: Not AAP’s Arvind Kejriwal, BJP sees threat in Congress’ ‘resurgence’ in Delhi

Delhi is gearing up for the upcoming MCD elections scheduled to be held on April 23. The election is touted as a battleground between BJP and AAP. But BJP is feeling that the main threat will come in form of Congress, according to The Indian Express report. "The times have changed and so has people’s perception about Arvind Kejriwal. The AAP now stands exposed. Hence, we should focus our energies on the Congress," Union Sports Minister Vijay Goel said, the report said. It is quite bewildering that BJP feels that Congress is the main threat instead of AAP even as Amit Shah himself had stressed on defeating Arvind Kejriwal-led party to send a strong message to opposition.